सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

हम कोई फर्जी भीड़ नही हम एक बड़े पेड़ की टहनी है , फर्जी भी नही तीखी मिर्ची वाली कलम के धनी है हमे गर्व है हम लोकल है..... जल्द ही आपके बीच सोनभद्र मे भी होगा 12 पन्ने का लोकल अखबार आपका अपना लोकल न्यूज ऑफ़ इंडिया.. गाँव की गूँज दिल्ली तक

हम कोई फर्जी भीड़ नही हम एक बड़े पेड़ की टहनी है , फर्जी भी नही तीखी मिर्ची वाली कलम के धनी है हमे गर्व है हम लोकल है..... जल्द ही आपके बीच सोनभद्र मे भी  होगा 12 पन्ने का लोकल अखबार आपका अपना लोकल न्यूज ऑफ़ इंडिया.. गाँव की गूँज दिल्ली तक




सम्पादकीय टोली


लोकल न्यूज ऑफ़ इंडिया



नमस्ते सोनभद्र! हमारी उपस्तिथि हर बूथ पर एक यूथ स्वतंत्र पत्रकार से होगी  वो पेशे से किसी भी जाति धर्म का हो, सरकारी शिक्षक हो, वकील हो या अधिकारी क्योकी उसकी कलम की कोई कीमत लोकल न्यूज ऑफ़ इंडिया  ना देगा ना वो हमसे लेगे और हां पत्रकारिता उनका पैशन होगा प्रोफेशन नही और उनकी अपनी आवाज अपने समाज के हित मे और सत्ता सियासत गलियारो मे सचेत करने वाली गूँज की होगी और दलाली हमारा पेशा नही होगा फर्जी आप बोल सकते है क्योकी हम है एक नेशनल दैनिक, न्यूज एजेंसी और आपके बीच मौजूद है  वेबपोर्टल , मोबाइल ऐप्प और यूट्यूब चैनल  के साथ साथ सोशल मीडिया के सभी अडडे पर और आपके वॉट्सएप्प पर जी हां हम हैं लकी कल का लोकल बोले तो लोकल न्यूज ऑफ़ इंडिया..... गाँव की गूँज दिल्ली तक।



एक बात और साथियो हमारे यहा जुड़ा हुआ कोई भी व्यक्ति लोकल न्यूज ऑफ़ इंडिया से जुडकर अपना व्यक्तिगत न्यूजपोर्टल से धंधा  नही करता और ना करेगा इसकी गारंटी आप सौ फीसदी ले सकते है। पढे लिखे लोग ही हमारे साथी होगे जो किसी को धमकायेगे नही बस लिखेगे की योगी जी ने और जिलाधिकारी महोदय ने राशन फ़्री बाटने को बोला था इस लॉक डाउन मे ना की पन्द्रह रुपए की वसूली करके और अगर बीजपुर की जनता दुकान सरकारी आदेश के बाद तय किये गये दुकानदारो के नम्बर पर फोन करके भी कुछ नही पा रही तो हम तो लिखेगे भैया आपको मिर्ची लगे चाहे किसी और को। हम ओबरा के उस परियोजना वाले हॉस्पीटल के बारे मे भी लिखेगे जहां अब करंट की कमाई तो हो रही है पर हॉस्पिटल और विद्यालय की व्यव्स्था को करंट लगाकर अगर यह सब आपको करंट की तरह लग रहा है तो माफी चाहते है हमारी तासीर थोडी गरम है



बहरहाल हम कोरोना काल मे प्रशासन की मदद के तौर पर जनसरोकार के मुद्दो पर तीखा लिखेगे बिना कोटेदार से डरे हुए और बिना लाग लपेट के क्योकी हम जानते है कि सोनभद्र की अव्यवस्था एक स्थापित सोच है जिसको आप सब भी अपने हिसाब से उठाते रहे है।



और आज जब साफ सुथरा प्रशासनिक जिलाधिकारी और कप्तान आपके जिले मे शासन और सुरक्षित परिवेश दे रहा है तो लोकल न्यूज ऑफ़ इंडिया के यह सजग प्रहरी जो स्वतंत्र रूप से अपनी रिपोर्टिंग साक्ष्यो सहित समाज की गूँज दिल्ली तक पहुंचा रहे है तो थोड़ा सा विचलित होना सबका तय है क्योकी वर्षो का राज पाठ एक दिन मे थोड़े ही कोई बदल सकता है और वो भी यह पढे लिखे अध्यापको से लेकर गाँव के सीधे सादे अभाव को मह्सूस करने वाले हमारे साथी।



आपको यह सब फर्जी लगते होगे लगना भी चाहिये क्योकी आजकल फर्जी और ऐसे पागल लोगो की जरूरत है जो बिना किसी उगाही और चन्दे के लोगो की बात उठा सके। बस आपके लिये यह बताना काफी है कि हम लॉक डाउन डाउन खुलते ही एक बारह पन्ने की बत्ती के रूप मे अखबार की शक्ल मे नजर आएगे बिल्कुल सीधी सपाट और धारदार कलम के साथ।ना सत्ता की लालसा ना कोटेदार का डर और ना ही किसी की चापलूसी। अगर शासन सही है तो सही लिखेगे अगर गलत है तो गलत। टैंकर मे पानी पिलाने की बात नही करेगे जल जंगल और जमीन पर सीधा संवाद करेगे।



और हां हम आप सबके बारे मे भी लिखेगे क्योकी आप सब समाज की आख कान नाक है और प्रशासन और पुलिसिया तंत्र की समझ के पारखी।



आपका योगदान हमारे लिए सम्मान का विषय है क्योकी हमारी लडाई ही रखैल बनते इस चौथे स्तम्भ की धमक और साख दुबारा लाने के लिये है वो भी आप कलम के धनी लोगो की मदद भी जरूरी है स्कूली ज्ञान के लिये नौसिखिया जो ठहरे हम आप हमारी पूूरी जानकारी हमारेे वेब पर।  नाराज मत होईये  हम आपके बाजार के बीच अपनी दुकान नही चलायेगे पर हां साइनबोर्ड के रूप मे हम जरूर नज़र आयेगे कि आप चौथे स्तम्भ के प्रहरियो की नज़र मे हैं.......


https://www.youtube.com/localnewsofindia


https://www.localnewsofindia.com


https://www.localnewsofindia.page


www.facebook.com/localnewsofindia


टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

वेतन तो शिक्षक का कटेगा भले ही वो महिला हो और महिला अवकाश का दिन हो , खंड शिक्षा अधिकारी पर तो जांच जारी है ही ,पर यक्ष प्रश्न आखिर कब तक  

महिला अवकाश के दिन महिलाओ का वेतन काटना तो याद है , पर बीएसए साहब को डीएम साहब के आदेश को स्पष्ट करना याद नहीं - शीतल दहलान , जिला अध्यक्ष , प्राथमिक शिक्षक संघ   सिस्टम ही तो है वरना जिस स्कूल में छः और आठ महीने से कोई शिक्षक नहीं आ रहा वहा साहब लोग जाने की जरूरत नहीं समझते  , पर महिला हूँ चीख चिल्ला ही सकती हूँ , पर हूँ तो निरीह ना - शीतल दहलान  विजय शुक्ल लोकल न्यूज ऑफ़ इंडिया दिल्ली।  खनन ,और शिक्षा दो ही ऐसे माफिया है जो आज सोनभद्र को दीमक की तरह खोखला कर रहे है, वो भी भ्रष्ट और सरपरस्ती में जी रहे अधिकारियो की कृपा से। बहरहाल लोकल न्यूज ऑफ इंडिया और कई समझदार लोग शायद शिक्षक पद की गरिमा को लेकर सोनभद्र में चिंतित नजर आते है।   चाहे म्योरपुर खंड शिक्षा अधिकारी को लेकर बेबाक और स्पष्ट वादी विधायक हरीराम चेरो का बयान हो कि   सहाय बदमाश आदमी है   या फिर ऑडियो में पैसे का आरोप लगाने वाली महिला शिक्षिका का अब भी दबाव में जीना और सिस्टम से लगातार जूझना जो जांच की छुरछुरछुरिया के साथ आरोपी खंड शिक्षा अधिकारी को अपने रसूख और दबाव का खेल घूम घूम कर साबित करने की इजाजत देता हो। 

विद्यालयों में शिक्षकों की उपस्तिथि को लेकर जारी शासनादेश से पैदा हुई उहापोह की स्तिथि साफ़ करे बीएसए - शीतल दहलान , जिला अध्यक्ष , उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ , सोनभद्र 

विद्यालयों में शिक्षकों की उपस्तिथि को लेकर जारी शासनादेश से पैदा हुई उहापोह की स्तिथि साफ़ करे बीएसए - शीतल दहलान  , जिला अध्यक्ष , उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ , सोनभद्र        सूर्यमणि कनौजिया  लोकल न्यूज ऑफ़ इंडिया  सोनभद्र। जनपद में ताजा ताजा जारी एक शासनादेश से शिक्षकों में एक उहापोह की स्तिथि बन गयी है जिसको लेकर उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ की जिला अध्यक्ष शीतल दहलान ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी से मांग की है कि  वो इसको स्पष्ट करे।  पूरा मामला  मुख्य सचिव उत्तर प्रदेश के दिनांक 30/08/2020 के शासनादेश संख्य2007/2020/सी.एक्स-3 के गाइड लाइन अनुपालन के क्रम में जिला मैजिस्ट्रेट /जिलाधिकारी सोनभद्र के दिनांक 31/08/2020 के पत्रांक 5728/जे.एनिषेधाज्ञा/ कोविड- 19/एल ओ आर डी /2020 के आदेशानुसार जिसके पैरा 1 मे उल्लिखित निम्न आदेश पर हुआ है।  जिसमे    1. समस्त स्कूल कॉलेज, शैक्षिक एवं कोचिंग संस्थान सामान्य शैक्षिक कार्य हेतु 30 सितम्बर 2020 तक बंद रहेंगे। यद्यपि निम्न गतिविधियों को शुरू करने की अनुमति होगी a. ऑनलाइन शिक्षा हेतु अनुमति जारी रहेगी और इसे प्रोत्साहित

सोनभद्र के बंटी-बबली का खेल अब जनता के सामने

सोनभद्र के बंटी-बबली का खेल अब जनता के सामने यू. पी. पुलिस इन्वेस्टिगेशन व पब्लिक सर्विस कमीशन का अपना फर्जी आई-डी कार्ड बनाकर जॉब लगवाने को लेकर लोगो का लाखो रुपए लूटा   मोहित मणि शुकला लोकल न्यूज़ ऑफ़ इंडिया सोनभद्र । एक ऐसा फर्जी पुलिस जो कि जनपद सोनभद्र का निवासी है और अपने फर्जी आई डी कार्ड के दम पर लोगो को जॉब दिलवाने के नाम पर व आने जाने के लिए टोल टैक्स पर पुलिस का रोब दिखा कर टोल टैक्स न देना फर्जीवारा करता आ रहा है। इस शख्स का नाम संतोष कुमार मिश्रा (पिता-आत्मजः राम ललित मिश्रा, सोनभद्र उत्तर प्रदेश) का रहने वाला है। संतोष कुमार मिश्रा फर्जी पुलिस की आई डी कार्ड बनाकर सोनभद्र में लोगो को गुमराह कर नौकरी के नाम मोटा रकम वसूल करके भागने की तैयारी में है। ये सोनभद्र या कहीं भी किसी भी टोल टैक्स पर पुलिस का फर्जी आई डी कार्ड दिखा कर निकल जाता है। इसका आई डी कार्ड "यू. पी. पुलिस इन्वेस्टिगेशन"* व "पब्लिक सर्विस कमीशन" के नाम पर बना हुआ है और बेखौफ जनपद सोनभद्र में ये घूम रहा है और लोगो को गुमराह कर रहा है। पैसे की लूट में इसकी लवर प्रिंसी भी इसका सा