सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

हिंदुत्व भारत की पहचान, बृहत्तर भारत का हर नागरिक हिंदू: योगी आदित्यनाथ

  • रामभक्तों पर गोली चलाने वाले लोग आज कह रहे हैं कि राम हमारे, ओवैसी जैसे भी आएंगे रास्ते पर
  • उत्तर प्रदेश में दंगों की राजनीति का दौर खत्म, अब नहीं हो रहा पलायन
  • कोविडकाल में यूपी ने दिखाया शानदार टीमवर्क, दुनिया कर रही सराहना
  • भगवान श्री राम राष्ट्रपुरुष, राम के बिना भारत की कल्पना सम्भव नहीं


रामशंकर अग्रहरि

लोकल न्यूज ऑफ इंडिया 

लखनऊ।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि सनातन हिंदू संस्कृति भारत की पहचान है। पूरी दुनिया में भारत को इसी रूप में जाना जाता है। यही कारण है कि जब वृहत्तर भारत का कोई नागरिक हज करने जाता है तो उसकी पहचान पाकिस्तानी या बांग्लादेशी नहीं, बल्कि हिंदू के रूप में होती है। वृहत्तर भारत का प्रत्येक नागरिक हिंदू है और सभी को अपनी इस पहचान और संस्कृति पर गर्व करना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा है कि मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम ने हजारों वर्ष पहले उत्तर से दक्षिण तक जो सीमा तय की थी, आज भी वही है। जो व्यक्ति अपनी विरासत और परंपरा पर गर्व नहीं करता, उसका जीवन निरर्थक है।


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यह विचार पांचजन्य पत्रिका के साथ साक्षात्कार में व्यक्त किए। "अयोध्या का मुद्दा विरासत का या सियासत का" के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि श्री राम, प्राचीन-सांस्कृतिक भारत और आधुनिक राजनीतिक भारत, दोनों के केंद्र बिंदु हैं। राम की नगरी अयोध्या भारत की राष्ट्रीयता की आस्था का केंद्र बिंदु है। राम के बिना भारत की कल्पना नहीं की जा सकती। राम राष्ट्रपुरुष हैं। हर भारतीय जनमानस के मन में श्री राम के प्रति अगाध आस्था है।


 फैजाबाद और कुछ अन्य शहरों के नाम परिवर्तन को लेकर हो रही बहस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि फैजाबाद का वास्तविक नाम अयोध्या था। इसी तरह पूरी दुनिया प्रयागराज को ही जानती है। अयोध्या के साथ हमारी स्मृतियां जुड़ी हुई हैं। वह हमारी सप्तपुरियों में से एक है। किसी कालखण्ड में जनआस्था को ठेस पहुंचाकर इन नामों को परिवर्तित कर दिया गया। उचित तो यह था कि इसे बहुत पहले ही परिमार्जित कर दिया गया होता, लेकिन अब जब हमें मौका मिला तो हमने किया। सीएम ने कहा कि 'नाम' केवल नाम नहीं होते, वरन, आत्मगौरव की अनुभूति कराते हैं। ऐसे में, हर भारतीय को गौरव का बोध हो और आने वाली पीढ़ियों के समक्ष एक मानक प्रस्तुत हो सके, इसलिए इन नगरों का वास्तविक नाम दिया जाना आवश्यक था। उन्होंने कहा कि आज जब 'एक भारत-श्रेष्ठ भारत' का निर्माण हो रहा है तो यह प्रक्रिया भी चलनी चाहिए।


जनता सबको रास्ते पर ले आती है, ओवैसी भी जल्द पकड़ेंगे सही राह

एआईएमआईएम के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुदीन ओवैसी की राजनीति से जुड़े एक सवाल पर योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यह लोकतंत्र है। यहां जनता सबको रास्ते पर ले आती है। रामभक्तों पर गोली चलाने वाले लोग आज कह रहे हैं कि राम हमारे हैं। यानी हमारा आंदोलन सही था, हम सत्य के मार्ग पर हैं। बहुत जल्द ओवैसी जैसे लोग भी मानेंगे कि राष्ट्र के प्रति, हिंदुत्व के प्रति भारतीय जनता पार्टी की वैचारिकी ही सत्य है। जल्द ही वह भी हमारे नजरिये को सत्य मांगेंगे। ओवैसी जैसों को भी बोलना पड़ेगा भारत के प्रति भारतमाता के प्रति जो हमारी भावना है वह सही है। 


अब यूपी में पुलिस देख अपराधी बदलते हैं रुख

 उत्तर प्रदेश में पुलिस मुठभेड़ में मारे जा रहे अपराधियों से जुड़े सवाल पर सीएम योगी ने कहा कि पुलिस या निर्दोष लोगों पर कोई गोली चलाएगा, तो हम हाथ पर हाथ धरे नहीं बैठ सकते। एक समय था जब यूपी में पुलिस आगे भागती थी, अपराधी दौड़ाता था।आज वह रूप है कि पुलिस को देख अपराधी रुख बदलता है। फिर भी अगर कोई दुस्साहस करता है तो फिर जोरदार भिड़ंत भी होती है। जो लोग अपराध और अपराधियों के हिमायती हैं, जिनके निहित स्वार्थ हैं, वही कभी फेक न्यूज कभी फर्जी मुठभेड़ का राग अलापते हैं। सीएम योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में कोई चीज फेक नहीं है सब ट्रांसपैरेंट है।


अब यूपी में नहीं होता पलायन

सीएम योगी ने कहा कि आज उत्तर प्रदेश में कोई पलायन नहीं हो रहा। 15 साल तक कैराना और कांधला सहित एक दर्जन कस्बों से व्यापक पलायन हुआ। अब बीते तीन साल में सब वापस आ गए हैं। उन्होंने दंगों की राजनीति करने वाले राजनीतिक दलों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि दंगा किसी समस्या का समाधान नहीं। इसमें होने वाला जान माल का नुकसान देश राष्ट्रीय क्षति होती है। आज यूपी के हर नागरिक को इसका अहसास है। हर व्यक्ति मानता है कि भाजपा की सरकार में सुरक्षा है। वर्तमान राज्य सरकार हर किसी को सुरक्षा और सम्मान की गारंटी दे रही है। बिना भेदभाव सबको योजनाओं का लाभ मिल रहा है। लोग खुश हैं, लेकिन अपराध और अपराधी के विरुद्ध जीरो टॉलरेंस के साथ कार्रवाइयों का दौर जारी रहेगा।


राष्ट्र द्रोहियों के पाचनतंत्र के लिए हमारी एंटीबायोटिक नुकसानदेह



वामपंथी वैचारिक संगठनों द्वारा योगी आदित्यनाथ की कार्यशैली पर आये दिन सवाल उठाने के एक सवाल पर बिना किसी का नाम लिए योगी ने कहा "किसी के पाचन तंत्र को हमारी एंटीबायोटिक नुकसान पहुंचाती है तो उन्हें अपच होगा ही। वह हमसे परहेज तो करेंगे ही। वास्तव में, इन लोगों ने केवल योगी आदित्यनाथ को ही निशाना नहीं बनाया, बल्कि  इन्हें तो देश के वैचारिक अधिष्ठान पर प्रहार से भी गुरेज नहीं है। 1962 में जब देश की अस्मिता पर संकट था, तब भी इन्होंने बेशर्मी दिखाई। तब भी इनकी निष्ठा भारत के साथ नहीं थी। जब भी राष्ट्र पर संकट रहा, यह लोग कभी भी राष्ट्र के साथ नहीं रहे। ऐसे लोगों को योगी आदित्यनाथ से दिक्कत तो होगी ही। सीएम योगी ने कहा कि यह वही लोग हैं जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और तत्कालीन राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मुझे उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाया तब इन लोगों ने मेरी क्षमता पर प्रश्नचिन्ह खड़ा किया। आज जबकि प्रदेश सफलता पूर्वक आगे बढ़ रहा है, इन्हें तब भी दिक्कत है।


कोविड जंग में जीत टीम वर्क की देन

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड के खिलाफ लड़ाई में उत्तर प्रदेश के शानदार प्रदर्शन का श्रेय टीम वर्क को दिया है। सीएम ने कहा कि उत्तर प्रदेश के कोविड मैनेजमेंट को दुनिया ने सराहा है। डब्ल्यूएचओ ने सराहना की है। 24 करोड़ की आबादी का प्रदेश में जहां 40 लाख प्रवासी आए, 14 हजार छात्र सकुशल कोटा से लाए गए। 25 हजार प्रतियोगी छात्र प्रयागराज से घर तक पहुंचाए गए। यह उस प्रदेश का हाल है जहां के हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को 'पुअर' कहा जाता था। यहां 24 करोड़ की आबादी में 8,000 दुःखद मौतें हुई हैं वहीं, अमेरिका जहां का हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर  सबसे अच्छा कहा जाता है जहां 33 करोड़ की आबादी में 03 लाख मौतें हुईं। यही नहीं, जिस दिल्ली मॉडल का हाल यह है कि पौने दो करोड़ की आबादी में 10 हजार मौतें हुईं। सीएम ने कहा कि 'सं गच्छध्वं सं वदध्वं' का वैदिक सूत्र वाक्य और 'वसुधैव कुटुम्बकम' की भावना हमारी सफलता का श्रेय है। बेहतर रिजल्ट व्यक्ति नहीं, टीम देती है। योगी ने बताया कि कोविडकाल में मंत्रिमंडल पॉलिसी बनाती थी। टीम 11 इम्प्लीमेंट करती थी। एक-एक जिले में सर्विलांस, लॉजिस्टिक, कंट्रोल कमांड सेंटर सबकी व्यवस्था की गई। इतनी बड़ी आबादी को सुरक्षित रखने के लिए रोजगार से जोड़ने के लिए काम किया। नतीजा सामने है। आज सबसे ज्यादा टीका भी यूपी ही लगा रहा है।


आप ने कामगारों को पलायन के लिए मजबूर किया

सीएम ने कोविड काल में प्रवासी श्रमिकों के साथ हुए दुर्व्यवहार पर आम आदमी पार्टी को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि दिल्ली से आम आदमी पार्टी की सरकार ने यूपी-बिहार के कामगारों को महामारी काल में भगाया। एक पार्टी विशेष के लोगों ने लॉक डाउन को विफल करने का षड्यंत्र किया। लोगों को पलायन के लिए मजबूर किया। फिर भी 10 हजार से अधिक मौते हुईं। उत्तर प्रदेश की स्थिति इन राज्यों से बहुत अच्छी है।

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

वेतन तो शिक्षक का कटेगा भले ही वो महिला हो और महिला अवकाश का दिन हो , खंड शिक्षा अधिकारी पर तो जांच जारी है ही ,पर यक्ष प्रश्न आखिर कब तक  

महिला अवकाश के दिन महिलाओ का वेतन काटना तो याद है , पर बीएसए साहब को डीएम साहब के आदेश को स्पष्ट करना याद नहीं - शीतल दहलान , जिला अध्यक्ष , प्राथमिक शिक्षक संघ   सिस्टम ही तो है वरना जिस स्कूल में छः और आठ महीने से कोई शिक्षक नहीं आ रहा वहा साहब लोग जाने की जरूरत नहीं समझते  , पर महिला हूँ चीख चिल्ला ही सकती हूँ , पर हूँ तो निरीह ना - शीतल दहलान  विजय शुक्ल लोकल न्यूज ऑफ़ इंडिया दिल्ली।  खनन ,और शिक्षा दो ही ऐसे माफिया है जो आज सोनभद्र को दीमक की तरह खोखला कर रहे है, वो भी भ्रष्ट और सरपरस्ती में जी रहे अधिकारियो की कृपा से। बहरहाल लोकल न्यूज ऑफ इंडिया और कई समझदार लोग शायद शिक्षक पद की गरिमा को लेकर सोनभद्र में चिंतित नजर आते है।   चाहे म्योरपुर खंड शिक्षा अधिकारी को लेकर बेबाक और स्पष्ट वादी विधायक हरीराम चेरो का बयान हो कि   सहाय बदमाश आदमी है   या फिर ऑडियो में पैसे का आरोप लगाने वाली महिला शिक्षिका का अब भी दबाव में जीना और सिस्टम से लगातार जूझना जो जांच की छुरछुरछुरिया के साथ आरोपी खंड शिक्षा अधिकारी को अपने रसूख और दबाव का खेल घूम घूम कर साबित करने की इजाजत देता हो। 

विद्यालयों में शिक्षकों की उपस्तिथि को लेकर जारी शासनादेश से पैदा हुई उहापोह की स्तिथि साफ़ करे बीएसए - शीतल दहलान , जिला अध्यक्ष , उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ , सोनभद्र 

विद्यालयों में शिक्षकों की उपस्तिथि को लेकर जारी शासनादेश से पैदा हुई उहापोह की स्तिथि साफ़ करे बीएसए - शीतल दहलान  , जिला अध्यक्ष , उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ , सोनभद्र        सूर्यमणि कनौजिया  लोकल न्यूज ऑफ़ इंडिया  सोनभद्र। जनपद में ताजा ताजा जारी एक शासनादेश से शिक्षकों में एक उहापोह की स्तिथि बन गयी है जिसको लेकर उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ की जिला अध्यक्ष शीतल दहलान ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी से मांग की है कि  वो इसको स्पष्ट करे।  पूरा मामला  मुख्य सचिव उत्तर प्रदेश के दिनांक 30/08/2020 के शासनादेश संख्य2007/2020/सी.एक्स-3 के गाइड लाइन अनुपालन के क्रम में जिला मैजिस्ट्रेट /जिलाधिकारी सोनभद्र के दिनांक 31/08/2020 के पत्रांक 5728/जे.एनिषेधाज्ञा/ कोविड- 19/एल ओ आर डी /2020 के आदेशानुसार जिसके पैरा 1 मे उल्लिखित निम्न आदेश पर हुआ है।  जिसमे    1. समस्त स्कूल कॉलेज, शैक्षिक एवं कोचिंग संस्थान सामान्य शैक्षिक कार्य हेतु 30 सितम्बर 2020 तक बंद रहेंगे। यद्यपि निम्न गतिविधियों को शुरू करने की अनुमति होगी a. ऑनलाइन शिक्षा हेतु अनुमति जारी रहेगी और इसे प्रोत्साहित

सोनभद्र के बंटी-बबली का खेल अब जनता के सामने

सोनभद्र के बंटी-बबली का खेल अब जनता के सामने यू. पी. पुलिस इन्वेस्टिगेशन व पब्लिक सर्विस कमीशन का अपना फर्जी आई-डी कार्ड बनाकर जॉब लगवाने को लेकर लोगो का लाखो रुपए लूटा   मोहित मणि शुकला लोकल न्यूज़ ऑफ़ इंडिया सोनभद्र । एक ऐसा फर्जी पुलिस जो कि जनपद सोनभद्र का निवासी है और अपने फर्जी आई डी कार्ड के दम पर लोगो को जॉब दिलवाने के नाम पर व आने जाने के लिए टोल टैक्स पर पुलिस का रोब दिखा कर टोल टैक्स न देना फर्जीवारा करता आ रहा है। इस शख्स का नाम संतोष कुमार मिश्रा (पिता-आत्मजः राम ललित मिश्रा, सोनभद्र उत्तर प्रदेश) का रहने वाला है। संतोष कुमार मिश्रा फर्जी पुलिस की आई डी कार्ड बनाकर सोनभद्र में लोगो को गुमराह कर नौकरी के नाम मोटा रकम वसूल करके भागने की तैयारी में है। ये सोनभद्र या कहीं भी किसी भी टोल टैक्स पर पुलिस का फर्जी आई डी कार्ड दिखा कर निकल जाता है। इसका आई डी कार्ड "यू. पी. पुलिस इन्वेस्टिगेशन"* व "पब्लिक सर्विस कमीशन" के नाम पर बना हुआ है और बेखौफ जनपद सोनभद्र में ये घूम रहा है और लोगो को गुमराह कर रहा है। पैसे की लूट में इसकी लवर प्रिंसी भी इसका सा