सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

स्वदेशी, स्वावलंबन और स्वच्छता का भाव लाना शहीदों के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि: मुख्यमंत्री

  • चौरी-चौरा शताब्दी समारोह के शुभारंभ अवसर पर सीएम योगी बोले
  • चौरी-चौरा की घटना ने देश की आजादी की लड़ाई को नई दिशा दी



रामशंकर अग्रहरि 

लोकल न्यूज ऑफ़ इंडिया 

गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि चौरी-चौरा शताब्दी समारोह देश को स्वतंत्र कराने वाले हुतात्माओं व बलिदानियों के प्रति श्रद्धा व सम्मान व्यक्त करने का समारोह है। देश के अंदर स्वदेशी, स्वावलंबन और स्वच्छता का भाव लाना बलिदानियों के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

मुख्यमंत्री गुरुवार को चौरी-चौरा स्मारक स्थल पर चौरी-चौरा शताब्दी समारोह के शुभारंभ अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वागत करते हुए उपस्थित जनसमूह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि 4 फरवरी1922 को चौरी -चौरा के जनाक्रोश ने स्वाधीनता आंदोलन को नई दिशा दी थी। चौरीचौरा से देश को आजाद कराने का अमूल्य संघर्ष प्रारंभ हुआ था। पुलिस की गोली से तीन सेनानी शहीद हो गए थे। ब्रिटिश हुकूमत ने 228 पर मुकदमा चलाया था। 19 को मृत्युदंड, 14 को आजीवन कारावास और अन्य को 8, 5 वर्ष के कारागार की सजा हुई थी। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री की प्रेरणा व मार्गदर्शन से समारोह हो रहा है। 1857 से लेकर 1947 तक स्वाधीनता संग्राम से जुड़े सभी स्मारकों, सीमा पर देश के लिए प्राण न्योछावर करने वाले जवानों के स्मारकों पर आज प्रदेशभर में शहीदों के प्रति श्रद्धा निवेदित करने के कार्यक्रमों की श्रृंखला शुरू हुई है। सभी स्मारकों पर पुलिस बैंड से राष्ट्र भक्ति के गीतों की प्रस्तुति, काव्य गोष्ठी व दीपोत्सव के कार्यक्रम होंगे। विद्यालयों में प्रतियोगिताओं का आयोजन करने और 1857 से लेकर 1947 तक के स्वाधीनता इतिहास साहित्य से जुड़ी प्रदर्शनी के साथ ही विशिष्ट शोध को बढ़ावा देने का कार्य किया जा रहा है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वदेशी और स्वावलंबन के साथ ही हमे स्वच्छता पर भी ध्यान देना है। सबने देखा है कि प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत मिशन के चलते हम इंसेफेलाइटिस को नियंत्रित करने में सफल हुए हैं। यह सफलता की नई मिसाल है। उन्होंने कहा कि आज भारत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन व उनकी प्रेरणा से तेजी से आत्मनिर्भरता की ओर अग्रसर हो रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यह कहते हुए शहीदों को नमन किया, "तेरा वैभव अमर रहे माँ, हम दिन चार रहे ना रहें।" उन्होंने लोंगो से "स्वरक्तम स्वराष्ट्रे रक्षतं" का भाव जगाने की अपील की। कार्यक्रम में राज्यपाल आनंदी बेन पटेल राजभवन लखनऊ से ऑनलाइन जुड़ीं।


*मुख्यमंत्री योगी के हाथों सम्मानित हुए शहीदों के परिजन*

चौरीचौरा जनाक्रोश के शताब्दी समारोह के अंतर्गत 4 फरवरी 2022 तक पूरे प्रदेश में कार्यक्रम होंगे। गुरुवार को शुभारंभ अवसर पर मुख्य समारोह स्थल पर चौरीचौरा जनाक्रोश के शहीदों के परिजनों को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सम्मानित किया। सीएम ने इन सभी को अंगवस्त्र व स्मृति चिन्ह प्रदान किया। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम स्थल पर दिव्यांगजन को मोटर चालित ट्राई साइकिल भी वितरित किया। 


*सीएम योगी ने स्मारक पर पुष्प चक्र अर्पित कर शहीदों को किया नमन*

समारोह स्थल पर पहुंचते ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चौरी-चौरा शहीद स्मारक पर पुष्प चक्र अर्पित कर शहीदों के प्रति श्रद्धा निवेदित की। मुख्यमंत्री ने पूरे स्मारक परिसर का भ्रमण कर वहां हुए कार्यों का जायजा भी लिया। सीएम स्मारक के संग्रहालय में भी गए और वहां शहीदों की सभी प्रतिमाओं पर माल्यार्पण कर उनको नमन किया। मुख्य समारोह मंच पर आने से पूर्व मुख्यमंत्री स्मारक स्थल पर वंदेमातरम के गायन में भी शामिल हुए।


*महामना वृतचित्र का प्रदर्शन, सीएम ने भी देखा*

चौरी-चौरा शताब्दी समारोह में मुख्य मंच पर चौरी-चौरा जनाक्रोश मामले में क्रांतिकारियों की प्रभावी पैरवी करने वाले पंडित मदन मोहन मालवीय के जीवन पर आधारित वृतचित्र "महामना" का प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शन अवधि तक मुख्य मंच से उतरकर मुख्यमंत्री पूरी तन्मयता से वृतचित्र देखते रहे।


स्वागत संबोधन जिले के प्रभारी मंत्री रमापति शास्त्री, बांसगांव के सांसद कमलेश पासवान व चौरीचौरा की विधायक संगीता यादव ने किया। उत्तर प्रदेश के पर्यटन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ नीलकंठ तिवारी ने मुख्यमंत्री को चौरीचौरा शताब्दी समारोह के "लोगो" का स्मृति चिन्ह प्रदान कर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का अभिनन्दन किया। डॉ तिवारी ने धन्यवाद ज्ञापन भी किया। समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़ते ही मंच पर बच्चों ने चौरीचौरा थीम सांग "चौरीचौरा के वीरों ने रचा नया इतिहास" पर भावपूर्ण प्रस्तुति दी। सूचना विभाग की ओर से चौरीचौरा पर आधारित वृतचित्र का प्रदर्शन किया गया। इस अवसर पर चौरीचौरा जनाक्रोश में प्राणाहुति देने वाले बलिदानियों के परिजन, राज्यसभा सदस्य जयप्रकाश निषाद, पिपराइच के विधायक महेंद्र पाल सिंह, गोरखपुर ग्रामीण के विधायक बिपिन सिंह, कैम्पियरगंज के विधायक फतेह बहादुर सिंह, बांसगांव के विधायक डॉ विमलेश पासवान, मंडलायुक्त जयंत नार्लिकर, एडीजी जोन दावा शेरपा, जिलाधिकारी के विजयेंद्र पांडियन, एसएसपी जोगेंद्र कुमार, भाजपा के क्षेत्रीय अध्यक्ष डॉ धर्मेंद्र सिंह, नगर पंचायत मुंडेरा बाजार की अध्यक्ष सुनीता गुप्ता समेत कई जनप्रतिनिधि, अधिकारी, स्कूली बच्चे व हजारों की संख्या में स्थानीय जन उपस्थित रहे।


टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

वेतन तो शिक्षक का कटेगा भले ही वो महिला हो और महिला अवकाश का दिन हो , खंड शिक्षा अधिकारी पर तो जांच जारी है ही ,पर यक्ष प्रश्न आखिर कब तक  

महिला अवकाश के दिन महिलाओ का वेतन काटना तो याद है , पर बीएसए साहब को डीएम साहब के आदेश को स्पष्ट करना याद नहीं - शीतल दहलान , जिला अध्यक्ष , प्राथमिक शिक्षक संघ   सिस्टम ही तो है वरना जिस स्कूल में छः और आठ महीने से कोई शिक्षक नहीं आ रहा वहा साहब लोग जाने की जरूरत नहीं समझते  , पर महिला हूँ चीख चिल्ला ही सकती हूँ , पर हूँ तो निरीह ना - शीतल दहलान  विजय शुक्ल लोकल न्यूज ऑफ़ इंडिया दिल्ली।  खनन ,और शिक्षा दो ही ऐसे माफिया है जो आज सोनभद्र को दीमक की तरह खोखला कर रहे है, वो भी भ्रष्ट और सरपरस्ती में जी रहे अधिकारियो की कृपा से। बहरहाल लोकल न्यूज ऑफ इंडिया और कई समझदार लोग शायद शिक्षक पद की गरिमा को लेकर सोनभद्र में चिंतित नजर आते है।   चाहे म्योरपुर खंड शिक्षा अधिकारी को लेकर बेबाक और स्पष्ट वादी विधायक हरीराम चेरो का बयान हो कि   सहाय बदमाश आदमी है   या फिर ऑडियो में पैसे का आरोप लगाने वाली महिला शिक्षिका का अब भी दबाव में जीना और सिस्टम से लगातार जूझना जो जांच की छुरछुरछुरिया के साथ आरोपी खंड शिक्षा अधिकारी को अपने रसूख और दबाव का खेल घूम घूम कर साबित करने की इजाजत देता हो। 

विद्यालयों में शिक्षकों की उपस्तिथि को लेकर जारी शासनादेश से पैदा हुई उहापोह की स्तिथि साफ़ करे बीएसए - शीतल दहलान , जिला अध्यक्ष , उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ , सोनभद्र 

विद्यालयों में शिक्षकों की उपस्तिथि को लेकर जारी शासनादेश से पैदा हुई उहापोह की स्तिथि साफ़ करे बीएसए - शीतल दहलान  , जिला अध्यक्ष , उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ , सोनभद्र        सूर्यमणि कनौजिया  लोकल न्यूज ऑफ़ इंडिया  सोनभद्र। जनपद में ताजा ताजा जारी एक शासनादेश से शिक्षकों में एक उहापोह की स्तिथि बन गयी है जिसको लेकर उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ की जिला अध्यक्ष शीतल दहलान ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी से मांग की है कि  वो इसको स्पष्ट करे।  पूरा मामला  मुख्य सचिव उत्तर प्रदेश के दिनांक 30/08/2020 के शासनादेश संख्य2007/2020/सी.एक्स-3 के गाइड लाइन अनुपालन के क्रम में जिला मैजिस्ट्रेट /जिलाधिकारी सोनभद्र के दिनांक 31/08/2020 के पत्रांक 5728/जे.एनिषेधाज्ञा/ कोविड- 19/एल ओ आर डी /2020 के आदेशानुसार जिसके पैरा 1 मे उल्लिखित निम्न आदेश पर हुआ है।  जिसमे    1. समस्त स्कूल कॉलेज, शैक्षिक एवं कोचिंग संस्थान सामान्य शैक्षिक कार्य हेतु 30 सितम्बर 2020 तक बंद रहेंगे। यद्यपि निम्न गतिविधियों को शुरू करने की अनुमति होगी a. ऑनलाइन शिक्षा हेतु अनुमति जारी रहेगी और इसे प्रोत्साहित

सोनभद्र के बंटी-बबली का खेल अब जनता के सामने

सोनभद्र के बंटी-बबली का खेल अब जनता के सामने यू. पी. पुलिस इन्वेस्टिगेशन व पब्लिक सर्विस कमीशन का अपना फर्जी आई-डी कार्ड बनाकर जॉब लगवाने को लेकर लोगो का लाखो रुपए लूटा   मोहित मणि शुकला लोकल न्यूज़ ऑफ़ इंडिया सोनभद्र । एक ऐसा फर्जी पुलिस जो कि जनपद सोनभद्र का निवासी है और अपने फर्जी आई डी कार्ड के दम पर लोगो को जॉब दिलवाने के नाम पर व आने जाने के लिए टोल टैक्स पर पुलिस का रोब दिखा कर टोल टैक्स न देना फर्जीवारा करता आ रहा है। इस शख्स का नाम संतोष कुमार मिश्रा (पिता-आत्मजः राम ललित मिश्रा, सोनभद्र उत्तर प्रदेश) का रहने वाला है। संतोष कुमार मिश्रा फर्जी पुलिस की आई डी कार्ड बनाकर सोनभद्र में लोगो को गुमराह कर नौकरी के नाम मोटा रकम वसूल करके भागने की तैयारी में है। ये सोनभद्र या कहीं भी किसी भी टोल टैक्स पर पुलिस का फर्जी आई डी कार्ड दिखा कर निकल जाता है। इसका आई डी कार्ड "यू. पी. पुलिस इन्वेस्टिगेशन"* व "पब्लिक सर्विस कमीशन" के नाम पर बना हुआ है और बेखौफ जनपद सोनभद्र में ये घूम रहा है और लोगो को गुमराह कर रहा है। पैसे की लूट में इसकी लवर प्रिंसी भी इसका सा