सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पोस्ट

Featured Post

संघ के स्वयंसेवक खुद की प्रेरणा से सेवा कार्य मे जुटता: पदम् सिंह

  कार्यकर्ताओं का यातायात व्यवस्था का समापन गंगा स्नान के बाद अपने अपने गंतव्यों को रवाना गणेश कुमार वैद लोकल न्यूज ऑफ इंडिया  हरिद्वार। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ताओं ने कुम्भ में यातायात व्यवस्था में पुलिस का सहयोग कर संघ के स्वभाव का परिचय दिया है। संघ की शाखाओं में सिखाये जाने वाले व्यक्ति निर्माण की परिभाषा को संघ कार्यकर्ताओं ने चरित्रार्थ किया है। यह विचार आरएसएस के क्षेत्र प्रचार प्रमुख(प.उप-उत्तराखण्ड) पदम सिंह ने यातायात व्यवस्था के समापन अवसर पर व्यक्त किये। हरकी पौड़ी पर गंगा स्नान से पूर्व समापन कार्यक्रम में आरएसएस प्रचारक पदम सिंह ने कहा कि जिन्हें संघ को समझना है उनके लिए यह अच्छा मौका है। संघ के स्वयंसेवकों के आचरण व व्यवहार से संघ को समझा जा सकता है।उन्होंने कहा कि संघ के स्वयंसेवक खुद की प्रेरणा से सेवा कार्य मे जुटता है। कार्यकर्ताओं में देश,समाज, धर्म के प्रति कर्तव्य की भावना स्वयं से जाग्रति होती है। उन्होंने कहा कि स्वयंसेवको ने कुंभ यातायात व्यवस्था में लगने से पहले मां गंगा को साक्षी मानकर सेवा का जो संकल्प लिया था वह आज पूर्ण हुआ है। उन्होंने कहा कि क
हाल की पोस्ट

जगतगुरू शंकराचार्य स्वरूपानंद जी के शिविर में आयुध चंडी महायज्ञ शुरू

दस दिन तक चलने वाले इस महायज्ञ में 1करोड़ से भी ज्यादा डी जाएंगी आहुतियां गणेश कुमार वैद लोकल न्यूज ऑफ इंडिया  हरिद्वार । हरिद्वार महाकुंभ में पधारे ज्योति,शारदा मठ के जगतगुरू शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सस्वती जी के शिविर में आयुध चंडी महायज्ञ चल रहा है । जो नवरात्र के प्रथम दिन से प्रारम्भ होकर दशमी तिथि को पूर्णाहुति के साथ सम्पन्न होगा ।  यज्ञ की सम्पूर्ण जानकारी देते हुए आचार्य की ने बताया कि इस आयुध चंडी महायज्ञ में 100 हवन कुंडो का निर्माण किया गया जैसे अग्नि के सौ मुख है वैसे ही 100 हवन कुंड बनाए गए है उन सौ कुंडो में 1 करोड़ से ज्यादा आहुतियां इस सप्तकोटी होम  के माध्यम से दी जाएंगी । उन्होंने आगे बताते हुए कहा कि गुरु जी की आज्ञा से चैत्र नवरात्र के शुभ अवसर पर मा दुर्गा की आराधना के लिए इस आयुध चंडी महायज्ञ को सभी की सुख समृद्धि की कामना ,विश्व के कल्याण के लिए और सनातन धर्म एवं सनातन संस्कृति की रक्षा की कामना हेतु जगतगुरू शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद जी महाराज के सानिध्य एवं स्वामी अविमक्तेश्वरानंद जी के निर्देशन में किया जा रहा है । इससे पूर्व जगतगुरू शंकराचार्य स्वामी स

कुंभ का मुख्य शाही स्नान सम्पन्न मु.मंत्री,मेलाधिकारी व आईं जी ने किया आभार प्रकट

महाकुंभ का मुख्य शाही स्नान सफलता पूर्वक सम्पन्न 13 लाख 50 हजार से अधिक लोगों ने गंगा में लगाई पवित्र डुबकी पहली बार कुम्भ में एन एस जी की तैनाती कोरोना को देखते हुए प्रशासन सतर्क, टेस्ट रिपोर्ट न लाने पर सीमा से करीब 56 हजार श्रद्धालु लौटाए गये हर दिन करीब 50 हजार लोगों के हो रहे हैं कोरोना टेस्ट गणेश वैद लोकल न्यूज ऑफ इंडिया  हरिद्वार । कुम्भ मेला का मुख्य शाही स्नान सकुशल और सुव्यवस्थित तरीके से संपन्न हो गया। मेष संक्रांति के स्नान पर विगत के कुम्भ मेलों में घटित कुछ अप्रिय घटनाओं के इतिहास एवं कोविड की अभूतपूर्व चुनौतियों को देखते हुए शाही स्नान को सुव्यवस्थित व निर्विघ्न संपन्न कराना एक बड़ी चुनौती माना जा रहा था। इन चुनौतियों के बीच मुख्य शाही स्नान बिना किसी अप्रिय घटना के सफलतापूर्वक संपन्न हो गया। सायं तक 13 लाख 51 हजार श्रद्धालु कुम्भ क्षेत्र के विभिन्न घाटों पर स्नान कर चुके थे। मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत ने कुम्भ मेले के मुख्य शाही स्नान के सकुशल सम्पन्न होने पर मेले से जुडे़ अधिकारियों, कर्मचारियों, सुरक्षाकर्मियों, स्वयंसेवी संस्थाओं सहित सभी जनमानस को बधाई देते हुए

शंकराचार्य स्वामी अधोक्षजानंद देवतीर्थ ने आज दंडी स्वामियों के साथ गंगा स्नान किया।

  प.विनय शर्मा हरिद्वार । गोवर्धन पुरी पीठाधीश्वर जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी अधोक्षजानंद देवतीर्थ ने आज दंडी स्वामियों के साथ गंगा स्नान किया। विदित हो की आज कुम्भ का दुर्लभ संयोग है। हरिद्वार में कुम्भ 2010 के बाद 11 वर्ष पश्चात हो रहा है। शिवरात्रि एवं सोमवती अमावस्या के उपरांत यह कुम्भ का तीसरा शाही स्नान है। इस अवसर पर गोवर्धन पुरी पीठधीश्वर शंकराचार्य स्वामी अधोक्षजानंद देवतीर्थ ने सैकड़ों दंडी स्वामियों के साथ गंगा में स्नान किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा की कुंभनगरी में आज मेष संक्रांति पर शाही स्नान व बैसाखी का पर्व स्नान के लिए दुर्लभ संयोग लेकर आया है। उन्होंने कहा की कुम्भ की परंपरा पौराणिक है तथा सदियों से शंकराचार्यों, संतों महात्माओं के सानिध्य में कुम्भ मेले होते आये हैं। स्वामी अधोक्षजानंद देवतीर्थ ने कहा की कुंभ मेले और कुंभ घट को साधारण पर्व या मात्र शाही स्नान पर्व न मानें। इस कुंभ में अनादि त्रिदेवों, सप्त समुद्रों और चारों वेदों का निवास है। कुंभ महापर्व के प्रतीक कुंभ घट में पृथ्वी और आकाश भी समाए हुए हैं। कुंभ कलश का घट स्वरूप पवित्रता और अनंत मांगल्य का प्रतीक है।

जगद्गुरु शंकराचार्य ने नीलधारा चंडी टापू में ब्रह्मकुंड नीलधारा गंगा में किया स्नान

पंडित विनय शर्मा  लोकल न्यूज ऑफ इंडिया  हरिद्वार । पूज्य जगद्गुरु शंकराचार्य जी महाराज ने नीलधारा चंडी टापू मैं आज ब्रह्मकुंड नीलधारा गंगा स्नान किया कुंभ स्नान पर्व मैं पूज्य महाराज श्री ने सभी देशवासियों को दिया धर्म संदेश कोरोना के चलते जो भी व्यक्ति इस कुंभ में स्नान करने नहीं आ पाया है वह जहां भी हो जिस भी नदी के पास हो उस नदी में मां गंगा का ध्यान करके स्नान करेगा उसको मां गंगा के स्नान का फल जरुर मिलेगा और कोरोनावायरस से अपने को सुरक्षित जरूर रखें माक्स लगाकर उचित दूरी जितना हो सके ईश्वर का ध्यान करते रहें हैं और नियमों का पालन करें यह एक महामारी जैसी बीमारी है इससे प्राण बचाना जरूरी है इस मौके पर मुख्य रूप से स्वामी श्री अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती जी एवं ब्रह्मचारी सुबोधानंद जी महाराज ब्रह्मचारी सहजानंद जी ब्रह्मचारी ब्रह्मविद्यानंद जी ब्रह्मचारी नारायणानंद जी ब्रह्मचारी सारदानंद जी ब्रह्मचारी मुकुंदानंद ब्रह्मचारी केशवानंद ब्रह्मचारी शरणानंद ब्रह्मचारी विश्वरूपानंद आदि भक्तों ने साथ में स्थान स्नान किया।

कुंभ में लगे स्वमी विवेकानंद मिशन के पंडाल में भीषण आग

    पंडित विनय शर्मा  लोकल न्यूज ऑफ इंडिया  हरिद्वार। कनखल संन्यास मार्ग स्थित स्वमी विवेकानंद मिशन के पंडाल में भीषण आग लगने से पंडाल कुछ ही मिनटो में जलकर पूरी तरह से राख्र हो गया। सूचना पर पहुंची दमकल की चार गाड़ियों ने बामुश्किल आग पर काबू पाया। शाही स्नान होने के कारण पंडाल में कुछ ही कर्मचारी मौजूद थे जिस कारण से कोई जन हानि नहीं हुई। मिली जानकारी के मुताबिक संन्यास मार्ग स्थित आर्य इण्टर कालेज के कैंपस में स्वामी विवेकानंद मिशन का शिविर लगा हुआ था। बुधवार सुबह करीब 11.30 बजे पंड़ाल में अचानक आग लग गयी। लगते ही आग ने विकराल रूप धारण कर लिया और कुछ ही मिनटों में पंड़ाल जलकर पूरी तरह से राख हो गया। पंड़ाल में रखे सिलेंडरों के भी आग पकड़ लेने से आग विकराल हो गयी। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची दमकल की गाड़ियों ने कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। जब तक आग पर काबू पाया गया तब तक सब कुछ जलकर राख हो गया था। आग के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है।

पूर्णानंद आश्रम के 20 टेंटो में आग लगने से मचा हड़कंप

गणेश वैद लोकल न्यूज ऑफ इंडिया  हरिद्वार। बुधवार को शाही स्नान के दौरान कनखल थाना क्षेत्र के पूर्णानंद आश्रम में स्थित टेंट में आग लग गई। इस आग ने देखते ही देखते 20 टेंटों को अपनी चपेट में ले लिया। जिससे आश्रम में हड़कंप मच गया। अग्निशमन विभाग की 10 से अधिक फायर यूनिट मौके पर हैं। इसके साथ ही कनखल थाना प्रभारी भी मौके पर मौजूद हैं। मेला प्रभारी भी मौके पर हैं। आग बुझाने का काम जारी है। बताया कि खाना बनाते वक्त एक टेंट में आग लगी जो बाकी अन्य टेंटों में फैस गई। टेंटों में रखा सारा सामान जल गया है। राहत की बात यह है की आग में कोई हताहत नहीं हुआ। इससे पहले हरिद्वार के कुंभ मेला क्षेत्र में बैरागी कैंप के बाजरीवाला की बस्ती में आग लग गई थी। सूचना पर कुंभ मेला अग्निशमन विभाग की टीम मौके पर पहुंची थी। एक वाहन से आग बुझाना संभव नहीं था, लिहाजा मायापुर अग्निशमन केंद्र से दो वाहन मंगवाए गए। कुल आठ वाहनों की मदद से तीन घंटे बाद आग पर काबू पाया जा सका। आग से करीब 50 झोपड़ियां राख हो गईं थीं।