सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

राज्य विद्युत परिषद जूनियर इंजीनियर संगठन शाखा ओबरा ने खारड़ मे जरूरतमंद ग्रामीणो को राशन किट व गमछा बाँटा

राज्य विद्युत परिषद जूनियर इंजीनियर संगठन शाखा ओबरा ने खारड़ मे जरूरतमंद ग्रामीणो को राशन किट व गमछा बाँटा



 


राकेश कुमार सिंह 


लोकल न्यूज ऑफ़ इंडिया 
ओबरा,सोनभद्र। राज्य विद्युत परिषद जूनियर इंजीनियर संगठन शाखा ओबरा की तरफ से अपने सदस्यों के  सहयोग से  सोनभद्र का एक बेहद पिछड़ा इलाका खारड़ (खैराही) जो परसोई ग्राम सभा के अंतर्गत आता है, के 200 घरों  को राशन किट और गमछा प्रदान किया गया।



खारड़, परसोई  जो ओबरा से करीब 15 कि०मी० की दूरी है,बेहद पिछड़ा इलाका है, इसीलिए वहां रह रहे लोगो को इस संकट के समय बड़ी मात्रा में राशन सामग्री उपलब्ध कराना एक बेहद पुनीत कार्य है।



इस पुनीत कार्य मे सहयोग के लिए संगठन के सदस्यों ने बढ़ चढ़ कर अपना सहयोग प्रदान किया।
राशन वितरण के दौरान संगठन के सदस्यों के साथ ओबरा पुलिस प्रशासन ने भी अहम भूमिका निभाई। इस मौके पर पुलिस प्रशासन की तरफ से  सी०ओ० भास्कर वर्मा, एवम एस०आई० मनोज सिंह अपने अन्य साथियों के साथ मौके पर उपलब्ध रहे और राशन वितरण में काफी सहयोग प्रदान किया।



इस मौके पर संगठन की तरफ से उत्पादन निगम अध्यक्ष इ०आर०जी०सिंह, शाखा संरक्षक इ०के०एस०सिंह, अधिशासी अभियंता इं०महेंद्र कुमार, शाखा अध्यक्ष इं०अभय प्रताप सिंह,इं०संजय  बैसवार, इं०सर्वेश यादव  इं०ओ०पी०पाल, इं०आशीष कुमार गुप्ता, संतोष राय, इं०पंकज गुप्ता, इं०कमलेश, इं०वरुण, इं०ब्रजेश यादव, इं० अंकित, इं०, गोपीचन्द, इं० कुलदीप, इं०पवन पांडेय, इं०आंनद शंकर पांडेय, इं०दिनेश यादव, सतीश राय, इं०बालगोविंद, इं०रविभूषण तिवारी, इंजीनियरअरविंद मौर्या एवं इंजीनियर अनिल कुमार शुक्ला आदि उपस्तिथ रहे।



उत्पादन निगम अध्यक्ष इं०आर जी सिंह  ने बताया कि संगठन इस कोरोना  के इस संकट काल में जरूरत मन्दों की मदद के लिए  तत्पर है। उन्होंने इस पुनीत कार्य मे बढ़ चढ़ कर सहयोग करने वाले सभी सदस्यों की भूरी भूरी प्रशंसा की।


टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

वेतन तो शिक्षक का कटेगा भले ही वो महिला हो और महिला अवकाश का दिन हो , खंड शिक्षा अधिकारी पर तो जांच जारी है ही ,पर यक्ष प्रश्न आखिर कब तक  

महिला अवकाश के दिन महिलाओ का वेतन काटना तो याद है , पर बीएसए साहब को डीएम साहब के आदेश को स्पष्ट करना याद नहीं - शीतल दहलान , जिला अध्यक्ष , प्राथमिक शिक्षक संघ   सिस्टम ही तो है वरना जिस स्कूल में छः और आठ महीने से कोई शिक्षक नहीं आ रहा वहा साहब लोग जाने की जरूरत नहीं समझते  , पर महिला हूँ चीख चिल्ला ही सकती हूँ , पर हूँ तो निरीह ना - शीतल दहलान  विजय शुक्ल लोकल न्यूज ऑफ़ इंडिया दिल्ली।  खनन ,और शिक्षा दो ही ऐसे माफिया है जो आज सोनभद्र को दीमक की तरह खोखला कर रहे है, वो भी भ्रष्ट और सरपरस्ती में जी रहे अधिकारियो की कृपा से। बहरहाल लोकल न्यूज ऑफ इंडिया और कई समझदार लोग शायद शिक्षक पद की गरिमा को लेकर सोनभद्र में चिंतित नजर आते है।   चाहे म्योरपुर खंड शिक्षा अधिकारी को लेकर बेबाक और स्पष्ट वादी विधायक हरीराम चेरो का बयान हो कि   सहाय बदमाश आदमी है   या फिर ऑडियो में पैसे का आरोप लगाने वाली महिला शिक्षिका का अब भी दबाव में जीना और सिस्टम से लगातार जूझना जो जांच की छुरछुरछुरिया के साथ आरोपी खंड शिक्षा अधिकारी को अपने रसूख और दबाव का खेल घूम घूम कर साबित करने की इजाजत देता हो। 

विद्यालयों में शिक्षकों की उपस्तिथि को लेकर जारी शासनादेश से पैदा हुई उहापोह की स्तिथि साफ़ करे बीएसए - शीतल दहलान , जिला अध्यक्ष , उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ , सोनभद्र 

विद्यालयों में शिक्षकों की उपस्तिथि को लेकर जारी शासनादेश से पैदा हुई उहापोह की स्तिथि साफ़ करे बीएसए - शीतल दहलान  , जिला अध्यक्ष , उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ , सोनभद्र        सूर्यमणि कनौजिया  लोकल न्यूज ऑफ़ इंडिया  सोनभद्र। जनपद में ताजा ताजा जारी एक शासनादेश से शिक्षकों में एक उहापोह की स्तिथि बन गयी है जिसको लेकर उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ की जिला अध्यक्ष शीतल दहलान ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी से मांग की है कि  वो इसको स्पष्ट करे।  पूरा मामला  मुख्य सचिव उत्तर प्रदेश के दिनांक 30/08/2020 के शासनादेश संख्य2007/2020/सी.एक्स-3 के गाइड लाइन अनुपालन के क्रम में जिला मैजिस्ट्रेट /जिलाधिकारी सोनभद्र के दिनांक 31/08/2020 के पत्रांक 5728/जे.एनिषेधाज्ञा/ कोविड- 19/एल ओ आर डी /2020 के आदेशानुसार जिसके पैरा 1 मे उल्लिखित निम्न आदेश पर हुआ है।  जिसमे    1. समस्त स्कूल कॉलेज, शैक्षिक एवं कोचिंग संस्थान सामान्य शैक्षिक कार्य हेतु 30 सितम्बर 2020 तक बंद रहेंगे। यद्यपि निम्न गतिविधियों को शुरू करने की अनुमति होगी a. ऑनलाइन शिक्षा हेतु अनुमति जारी रहेगी और इसे प्रोत्साहित

सोनभद्र के बंटी-बबली का खेल अब जनता के सामने

सोनभद्र के बंटी-बबली का खेल अब जनता के सामने यू. पी. पुलिस इन्वेस्टिगेशन व पब्लिक सर्विस कमीशन का अपना फर्जी आई-डी कार्ड बनाकर जॉब लगवाने को लेकर लोगो का लाखो रुपए लूटा   मोहित मणि शुकला लोकल न्यूज़ ऑफ़ इंडिया सोनभद्र । एक ऐसा फर्जी पुलिस जो कि जनपद सोनभद्र का निवासी है और अपने फर्जी आई डी कार्ड के दम पर लोगो को जॉब दिलवाने के नाम पर व आने जाने के लिए टोल टैक्स पर पुलिस का रोब दिखा कर टोल टैक्स न देना फर्जीवारा करता आ रहा है। इस शख्स का नाम संतोष कुमार मिश्रा (पिता-आत्मजः राम ललित मिश्रा, सोनभद्र उत्तर प्रदेश) का रहने वाला है। संतोष कुमार मिश्रा फर्जी पुलिस की आई डी कार्ड बनाकर सोनभद्र में लोगो को गुमराह कर नौकरी के नाम मोटा रकम वसूल करके भागने की तैयारी में है। ये सोनभद्र या कहीं भी किसी भी टोल टैक्स पर पुलिस का फर्जी आई डी कार्ड दिखा कर निकल जाता है। इसका आई डी कार्ड "यू. पी. पुलिस इन्वेस्टिगेशन"* व "पब्लिक सर्विस कमीशन" के नाम पर बना हुआ है और बेखौफ जनपद सोनभद्र में ये घूम रहा है और लोगो को गुमराह कर रहा है। पैसे की लूट में इसकी लवर प्रिंसी भी इसका सा