सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

आंगनबाड़ियों ने सुपरवाइजर पर लगाया वसूली, धमकाने व शोषण का आरोप


 


 


मोहित मणि शुक्ला


लोकल न्यूज़ ऑफ़ इंडिया 


सोनभद्र।जनपद के बड़े विकास खण्ड घोरावल की बाल विकास परियोजना की परिस्थितियों से यहाँ की आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों में व्याप्त रोष मौजूदा हालात में चरमसीमा तक पहुँच गया है। आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने सोनभद्र परियोजनाधिकारी व उससे आला अफसरान व हुक्मरानों तक शिकायतों का सिलसिला जारी कर दिया है जिसे जनाक्रोश की परिणति कहने में कोई गुरेज नही कहा जा सकता। इसी परियोजना की सेक्टर दो की मुख्य सेविका शीला पाल द्वारा आंगनबाड़ियो को प्रताड़ित करने, उन पर हनक और धमक जताने ,उन्हें भयाक्रांत करने व उनकी ओर से मांगी गयी रकम न देने पर कार्रवाई कर निलंबित करने की धमकी लगातार देते रहने से आंगनबाड़ी समुदाय ने शिकायत जिला स्तर व उससे ऊपर तक गुहार लगाते हुए लिखा है कि पुष्टाहार में धनवसूली कई जबरदस्त मांग की जाती है लम्बे अरसे से पर अत्यंत आहत होने पर शिकायत करने की हिमाकत की गयी कार्यकत्रियों द्वारा। कार्यालय आकर सुपरवाइजर द्वारा असमय बुलाना ,किसी भी रिपोर्ट को चौबीस घंटे के भीतर जमा करने का दबाव बनाना, विषम व आकस्मिक प्रतिकूल परिस्थितियों में अवकाश देने के लिए धन की मांग करना, आंगनबाड़ीयो का परिहास उड़ाना उनकी फितरत बन गयी है।अवकाश न मिलने की दशा में कुछ आँगनबाड़ी के परिवार में दम तोड़ चुके हैं। इससे इतर शिकायती प्रपत्र पर भी प्रमुख उल्लेख किया है कार्यकत्रियों ने कि इनका मुख्यालय आवास घोरावल में नही है वे मिर्ज़ापुर से ही आती है व साथ मे इनके हर दौरे में इनके पति शामिल होते हैं जो खुद को वकील बताते हुए धन वसूली न देने पर निलम्बन की धमकी और अनर्गल वार्ता और मानवता से परे आचरण पर कुछ आंगनबाड़ी इकट्ठा होकर हंगामा भी कर चुकी हैं।


टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

वेतन तो शिक्षक का कटेगा भले ही वो महिला हो और महिला अवकाश का दिन हो , खंड शिक्षा अधिकारी पर तो जांच जारी है ही ,पर यक्ष प्रश्न आखिर कब तक  

महिला अवकाश के दिन महिलाओ का वेतन काटना तो याद है , पर बीएसए साहब को डीएम साहब के आदेश को स्पष्ट करना याद नहीं - शीतल दहलान , जिला अध्यक्ष , प्राथमिक शिक्षक संघ   सिस्टम ही तो है वरना जिस स्कूल में छः और आठ महीने से कोई शिक्षक नहीं आ रहा वहा साहब लोग जाने की जरूरत नहीं समझते  , पर महिला हूँ चीख चिल्ला ही सकती हूँ , पर हूँ तो निरीह ना - शीतल दहलान  विजय शुक्ल लोकल न्यूज ऑफ़ इंडिया दिल्ली।  खनन ,और शिक्षा दो ही ऐसे माफिया है जो आज सोनभद्र को दीमक की तरह खोखला कर रहे है, वो भी भ्रष्ट और सरपरस्ती में जी रहे अधिकारियो की कृपा से। बहरहाल लोकल न्यूज ऑफ इंडिया और कई समझदार लोग शायद शिक्षक पद की गरिमा को लेकर सोनभद्र में चिंतित नजर आते है।   चाहे म्योरपुर खंड शिक्षा अधिकारी को लेकर बेबाक और स्पष्ट वादी विधायक हरीराम चेरो का बयान हो कि   सहाय बदमाश आदमी है   या फिर ऑडियो में पैसे का आरोप लगाने वाली महिला शिक्षिका का अब भी दबाव में जीना और सिस्टम से लगातार जूझना जो जांच की छुरछुरछुरिया के साथ आरोपी खंड शिक्षा अधिकारी को अपने रसूख और दबाव का खेल घूम घूम कर साबित करने की इजाजत देता हो। 

विद्यालयों में शिक्षकों की उपस्तिथि को लेकर जारी शासनादेश से पैदा हुई उहापोह की स्तिथि साफ़ करे बीएसए - शीतल दहलान , जिला अध्यक्ष , उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ , सोनभद्र 

विद्यालयों में शिक्षकों की उपस्तिथि को लेकर जारी शासनादेश से पैदा हुई उहापोह की स्तिथि साफ़ करे बीएसए - शीतल दहलान  , जिला अध्यक्ष , उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ , सोनभद्र        सूर्यमणि कनौजिया  लोकल न्यूज ऑफ़ इंडिया  सोनभद्र। जनपद में ताजा ताजा जारी एक शासनादेश से शिक्षकों में एक उहापोह की स्तिथि बन गयी है जिसको लेकर उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ की जिला अध्यक्ष शीतल दहलान ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी से मांग की है कि  वो इसको स्पष्ट करे।  पूरा मामला  मुख्य सचिव उत्तर प्रदेश के दिनांक 30/08/2020 के शासनादेश संख्य2007/2020/सी.एक्स-3 के गाइड लाइन अनुपालन के क्रम में जिला मैजिस्ट्रेट /जिलाधिकारी सोनभद्र के दिनांक 31/08/2020 के पत्रांक 5728/जे.एनिषेधाज्ञा/ कोविड- 19/एल ओ आर डी /2020 के आदेशानुसार जिसके पैरा 1 मे उल्लिखित निम्न आदेश पर हुआ है।  जिसमे    1. समस्त स्कूल कॉलेज, शैक्षिक एवं कोचिंग संस्थान सामान्य शैक्षिक कार्य हेतु 30 सितम्बर 2020 तक बंद रहेंगे। यद्यपि निम्न गतिविधियों को शुरू करने की अनुमति होगी a. ऑनलाइन शिक्षा हेतु अनुमति जारी रहेगी और इसे प्रोत्साहित

सोनभद्र के बंटी-बबली का खेल अब जनता के सामने

सोनभद्र के बंटी-बबली का खेल अब जनता के सामने यू. पी. पुलिस इन्वेस्टिगेशन व पब्लिक सर्विस कमीशन का अपना फर्जी आई-डी कार्ड बनाकर जॉब लगवाने को लेकर लोगो का लाखो रुपए लूटा   मोहित मणि शुकला लोकल न्यूज़ ऑफ़ इंडिया सोनभद्र । एक ऐसा फर्जी पुलिस जो कि जनपद सोनभद्र का निवासी है और अपने फर्जी आई डी कार्ड के दम पर लोगो को जॉब दिलवाने के नाम पर व आने जाने के लिए टोल टैक्स पर पुलिस का रोब दिखा कर टोल टैक्स न देना फर्जीवारा करता आ रहा है। इस शख्स का नाम संतोष कुमार मिश्रा (पिता-आत्मजः राम ललित मिश्रा, सोनभद्र उत्तर प्रदेश) का रहने वाला है। संतोष कुमार मिश्रा फर्जी पुलिस की आई डी कार्ड बनाकर सोनभद्र में लोगो को गुमराह कर नौकरी के नाम मोटा रकम वसूल करके भागने की तैयारी में है। ये सोनभद्र या कहीं भी किसी भी टोल टैक्स पर पुलिस का फर्जी आई डी कार्ड दिखा कर निकल जाता है। इसका आई डी कार्ड "यू. पी. पुलिस इन्वेस्टिगेशन"* व "पब्लिक सर्विस कमीशन" के नाम पर बना हुआ है और बेखौफ जनपद सोनभद्र में ये घूम रहा है और लोगो को गुमराह कर रहा है। पैसे की लूट में इसकी लवर प्रिंसी भी इसका सा