सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

बिहार पर भारी रावण गठजोड़ , कही पीडीए से ठगा ना रह जाय महागठबंधन और एनडीए

बिहार पर भारी रावण गठजोड़ , कही पीडीए से ठगा ना रह जाय महागठबंधन और एनडीए 



सोशल काका


लोकल न्यूज ऑफ़ इंडिया
पटना. बिहार में दलों के बीच में मनभेद जारी है.सोमवार को प्रगतिशील लोकतांत्रिक गठबंधन यानी पीडीए बनाने की घोषणा की गयी.मंगलवार को राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा),बीएसपी (बहुजन समाज पार्टी) और जनवादी सोशलिस्ट पार्टी के साथ गठबंधन किया गया है. बुधवार को भी मनभेद होने की खबर मिलने का कयास लगाया जा रहा है.राजद और कांग्रेस के साथ भी खटपट है.यह सवाल खड़ा हो गया है कि एनडीए और महागठबंधन के सामने कितना टिक पाएंगे?
जन अधिकार पार्टी (लोकतांत्रिक) के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने सोमवार को यहां प्रगतिशील लोकतांत्रिक गठबंधन यानी पीडीए बनाने की घोषणा की. इस गठबंधन में चंद्रशेखर आजाद की अध्यक्षता वाली आजाद समाज पार्टी, एमके फैजी के नेतृत्व वाली सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी यानी एसटीपीआई और बीपीएल मातंग की बहुजन मुक्ति पार्टी शामिल हुई है.


पीडीए के रूप में बिहार को नया विकल्प 


गठबंधन का ऐलान करते हुए पप्पू यादव ने इसे मानवतावादी और सब को लेकर चलने वाला गठबंधन बताया. उन्होंने कहा कि यह गठबंधन 30 साल के महापाप को समाप्त करने के लिए बनाया गया है. उन्होंने कहा कि उनकी बात राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा से भी हो रही है, उनका भी इस गठबंधन में स्वागत है. दो दिनों में इस गठबंधन में और पार्टियां शामिल होंगी. उन्होंने लोजपा और कांग्रेस को भी इस गठबंधन में शामिल होने की दावत दी.


पप्पू यादव ने दो दिनों के बाद कॉमन कॉमन मिनिमम प्रोग्राम बनाने की भी घोषणा की. इस अवसर पर उन्होंने एनडीए और महागठबंधन दोनों को निशाना बनाते हुए कहा कि 30 साल का यह महापाप अब खत्म होना चाहिए. पप्पू यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर यह आरोप लगाया कि उन्होंने कोरोना वायरस और लॉकडाउन के दौरान गुजरात और दिल्ली में लाचार बिहारियों की मदद नहीं की. उन्होंने नीतीश कुमार पर रघुवंश बाबू के अपमान का भी आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार लाश पर राजनीति कर रहे हैं.


राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा),बीएसपी (बहुजन समाज पार्टी) और जनवादी सोशलिस्ट पार्टी के साथ गठबंधन
आज तमाम कयासों पर विराम लगाते हुए रालोसपा नेता उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि मैं न एनडीए में जा रहा हूं और न महागठबंधन में रहूंगा. राजद के नेतृत्व वाले महागठबंधन में इतनी ताकत नहीं है कि वह बिहार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुक्ति दिला सके. इसके चलते हमने बीएसपी (बहुजन समाज पार्टी) के साथ गठबंधन किया है. हम बिहार को नया और बेहतर विकल्प देने जा रहे हैं.


नीतीश और तेजस्वी पर जमकर तंज 



प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने तेजस्वी यादव पर भी जमकर निशाना साधा, कहा- राजद को अपना नेतृत्व बदलना चाहिए. जब पार्टी का मुखिया ही दसवीं पास नहीं है तो वे बेहतर शिक्षा देने का दावा कैसे कर सकते हैं. हमारा गठबंधन बिहार की सभी 243 सीट पर चुनाव लड़ेगा. हमारी कोशिश सरकार बनाने की होगी. चिराग पासवान के बारे में पूछने पर कहा कि उनसे कोई बात नहीं हुई है, लेकिन हमारे गठबंधन में कोई भी आएगा तो उसका स्वागत करेंगे. इस गठबंधन में जनवादी सोशलिस्ट पार्टी भी शामिल है.

उपेंद्र कुशवाहा ने नीतीश कुमार पर भी जमकर निशाना साधा, उससे पहले महागठबंधन पर भी कई तरह के आरोप लगाए. कहा जिस तरह से महागठबंधन चल रहा है उससे वे बिहार को नीतीश कुमार से मुक्त नहीं करा पाएंगे. नीतीश कुमार ने बिहार के लोगों को खूब सपने दिखाए हैं. उन्होंने कहा था कि भ्रष्टाचार से कोई समझौता नहीं करेंगे. भ्रष्टाचारियों के मकान और जमीन को जब्त करेंगे. ऐसे कितने भ्रष्टाचारी हैं जिनके मकान और जमीन को जब्त कर वहां स्कूल और अस्पताल खुलवाए गए.

कुशवाहा ने कहा कि नीतीश कुमार की सरकार 15 साल पहले वाली सरकार के रास्ते पर चल रही है. इनके लूटने का तरीका बदल गया है. नीतीश कुमार की सरकार 15 साल में पीएमसीएच को ठीक नहीं कर पाई. एक भी मॉडल स्कूल और अस्पताल नहीं बना. कानून-व्यवस्था की स्थिति खराब है. हत्याएं हो रही हैं. महिलाओं के साथ रेप और अत्याचार भी इस सरकार में खूब हुए हैं.

उन्होंने कहा कि हम नीतीश कुमार से बिहार को मुक्त कराना चाहते हैं, लेकिन ऐसा महागठबंधन में रहते हुए नहीं हो पा रहा था. राजद कोई परिवर्तन नहीं कर पा रहा है. महागठबंधन भी भाजपा की तरह हो गया है. बिहार की जनता अब नया विकल्प चाहती है. लोग पुराने 15 साल में नहीं लौटना चाहते. हम बिहार को एक नया और बेहतर विकल्प देना चाहते हैं. कुशवाहा ने अपना नारा भी सार्वजनिक किया. कहा-'अबकी बार शिक्षा वाली सरकार'. कुशवाहा ने कहा कि 30 साल में बिहार रसातल में चला गया है. हमें 5 साल दीजिए, एक बेहतर बिहार बनाएंगे.

उपेंद्र कुशवाहा ने कांग्रेस के बारे में कहा कि कांग्रेस आज भी बड़ी पार्टी है. उन्होंने मुझसे कोई बात नहीं की. असल में महागठबंधन किसी से बात करने के लिए बैठा ही नहीं तो बात कैसे होगी? वाल्मीकिनगर से उपचुनाव लड़ने के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि ऐसा कुछ होने नहीं जा रहा है.



एक नजर बिहार की गुना गणित पर



बिहार राज्य में लगभग 38जिले हैं जिन पर करीब 243 सीटों पर इस बार विधानसभा चुनाव होने हैं. बिहार चुनाव में हमेशा से ही जातीय समीकरण ने पार्टी की किस्मत तय की है. इस बार भी कुछ ऐसा ही देखने को मिलने वाला है. बिहार में करीब 6 करोड़ 68 लाख से ज्यादा वोटर्स हैं. 2015 विधानसभा चुनाव में जो जातीय समीकरण देखने को मिला था उसमें 47 प्रतिशत OBC वोट बैंक था. जबकि दलित 20%, मुस्लिम 16.9% और ऊँची जाती का 11 प्रतिशत वोट बैंक रहा था. 2015 में सबसे ज्यादा 80 सीटें आरजेडी को मिली थी जबकि एनडीए को 71 और कांग्रेस को 27 सीटें मिली थी, इसे महागठबंधन का नाम भी दिया गया था. दूसरी तरफ 53 सीटों पर भाजपा को जीत हासिल हुई थी जबकि एलजेपी 2 सीटें जीत पाने में कामयाब रही थी. लेकिन इस बार नीतीश कुमार राजग के साथ चुनाव लड़ने जा रहे हैं. जातीय समीकरण भी नीतीश कुमार के पक्ष में हैं. ऐसे में यह कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि बिहार में इस समय नीतीश कुमार और राजग का पलड़ा भारी नजर आ रहा है.


 

 

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

वेतन तो शिक्षक का कटेगा भले ही वो महिला हो और महिला अवकाश का दिन हो , खंड शिक्षा अधिकारी पर तो जांच जारी है ही ,पर यक्ष प्रश्न आखिर कब तक  

महिला अवकाश के दिन महिलाओ का वेतन काटना तो याद है , पर बीएसए साहब को डीएम साहब के आदेश को स्पष्ट करना याद नहीं - शीतल दहलान , जिला अध्यक्ष , प्राथमिक शिक्षक संघ   सिस्टम ही तो है वरना जिस स्कूल में छः और आठ महीने से कोई शिक्षक नहीं आ रहा वहा साहब लोग जाने की जरूरत नहीं समझते  , पर महिला हूँ चीख चिल्ला ही सकती हूँ , पर हूँ तो निरीह ना - शीतल दहलान  विजय शुक्ल लोकल न्यूज ऑफ़ इंडिया दिल्ली।  खनन ,और शिक्षा दो ही ऐसे माफिया है जो आज सोनभद्र को दीमक की तरह खोखला कर रहे है, वो भी भ्रष्ट और सरपरस्ती में जी रहे अधिकारियो की कृपा से। बहरहाल लोकल न्यूज ऑफ इंडिया और कई समझदार लोग शायद शिक्षक पद की गरिमा को लेकर सोनभद्र में चिंतित नजर आते है।   चाहे म्योरपुर खंड शिक्षा अधिकारी को लेकर बेबाक और स्पष्ट वादी विधायक हरीराम चेरो का बयान हो कि   सहाय बदमाश आदमी है   या फिर ऑडियो में पैसे का आरोप लगाने वाली महिला शिक्षिका का अब भी दबाव में जीना और सिस्टम से लगातार जूझना जो जांच की छुरछुरछुरिया के साथ आरोपी खंड शिक्षा अधिकारी को अपने रसूख और दबाव का खेल घूम घूम कर साबित करने की इजाजत देता हो। 

विद्यालयों में शिक्षकों की उपस्तिथि को लेकर जारी शासनादेश से पैदा हुई उहापोह की स्तिथि साफ़ करे बीएसए - शीतल दहलान , जिला अध्यक्ष , उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ , सोनभद्र 

विद्यालयों में शिक्षकों की उपस्तिथि को लेकर जारी शासनादेश से पैदा हुई उहापोह की स्तिथि साफ़ करे बीएसए - शीतल दहलान  , जिला अध्यक्ष , उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ , सोनभद्र        सूर्यमणि कनौजिया  लोकल न्यूज ऑफ़ इंडिया  सोनभद्र। जनपद में ताजा ताजा जारी एक शासनादेश से शिक्षकों में एक उहापोह की स्तिथि बन गयी है जिसको लेकर उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ की जिला अध्यक्ष शीतल दहलान ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी से मांग की है कि  वो इसको स्पष्ट करे।  पूरा मामला  मुख्य सचिव उत्तर प्रदेश के दिनांक 30/08/2020 के शासनादेश संख्य2007/2020/सी.एक्स-3 के गाइड लाइन अनुपालन के क्रम में जिला मैजिस्ट्रेट /जिलाधिकारी सोनभद्र के दिनांक 31/08/2020 के पत्रांक 5728/जे.एनिषेधाज्ञा/ कोविड- 19/एल ओ आर डी /2020 के आदेशानुसार जिसके पैरा 1 मे उल्लिखित निम्न आदेश पर हुआ है।  जिसमे    1. समस्त स्कूल कॉलेज, शैक्षिक एवं कोचिंग संस्थान सामान्य शैक्षिक कार्य हेतु 30 सितम्बर 2020 तक बंद रहेंगे। यद्यपि निम्न गतिविधियों को शुरू करने की अनुमति होगी a. ऑनलाइन शिक्षा हेतु अनुमति जारी रहेगी और इसे प्रोत्साहित

सोनभद्र के बंटी-बबली का खेल अब जनता के सामने

सोनभद्र के बंटी-बबली का खेल अब जनता के सामने यू. पी. पुलिस इन्वेस्टिगेशन व पब्लिक सर्विस कमीशन का अपना फर्जी आई-डी कार्ड बनाकर जॉब लगवाने को लेकर लोगो का लाखो रुपए लूटा   मोहित मणि शुकला लोकल न्यूज़ ऑफ़ इंडिया सोनभद्र । एक ऐसा फर्जी पुलिस जो कि जनपद सोनभद्र का निवासी है और अपने फर्जी आई डी कार्ड के दम पर लोगो को जॉब दिलवाने के नाम पर व आने जाने के लिए टोल टैक्स पर पुलिस का रोब दिखा कर टोल टैक्स न देना फर्जीवारा करता आ रहा है। इस शख्स का नाम संतोष कुमार मिश्रा (पिता-आत्मजः राम ललित मिश्रा, सोनभद्र उत्तर प्रदेश) का रहने वाला है। संतोष कुमार मिश्रा फर्जी पुलिस की आई डी कार्ड बनाकर सोनभद्र में लोगो को गुमराह कर नौकरी के नाम मोटा रकम वसूल करके भागने की तैयारी में है। ये सोनभद्र या कहीं भी किसी भी टोल टैक्स पर पुलिस का फर्जी आई डी कार्ड दिखा कर निकल जाता है। इसका आई डी कार्ड "यू. पी. पुलिस इन्वेस्टिगेशन"* व "पब्लिक सर्विस कमीशन" के नाम पर बना हुआ है और बेखौफ जनपद सोनभद्र में ये घूम रहा है और लोगो को गुमराह कर रहा है। पैसे की लूट में इसकी लवर प्रिंसी भी इसका सा