सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

हाथरस दुष्कर्म मामला... यह तो निर्दयता की हद है-  सुदेश वोहरा,असंगठित कामगार कांग्रेस

हाथरस दुष्कर्म मामला...
यह तो निर्दयता की हद है-  सुदेश वोहरा,असंगठित कामगार कांग्रेस



विवेक अग्रवाल


लोकल न्यूज ऑफ इंडिया 


शिमला। हाथरस दुष्कर्म मामले में  पीड़िता के शव का  अंतिम संस्कार किए जाने से पुलिस सवालों के घेरे में है । बिना परिवार की रजामंदी से अंतिम संस्कार करने को लेकर चौतरफा विरोध हो रहा है ।परिवार व गांव वाले इसके लिए पुलिस व प्रशासन को दोषी मानते हैं। इस मामले में असंगठित कामगार कांग्रेस के  प्रदेश महासचिव  सुदेश वोहरा ने  प्रशासन की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाया है। उन्होंने बयान जारी कर कहा कि यह निर्दयता कीहद है ।कहा कि यूपी में रावण राज चल रहा है ।एक मासूम के साथ बब्रतर के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया जाता है और 15 दिन तक जिंदगी और मौत से संघर्ष करने के बाद पीड़िता की मौत हो जाती है । वोहरा ने सवाल उठाते हुए कहा कि आखिर हाथरस पुलिस को ऐसी क्या जल्दी थी कि आधी रात को ही पीडिता का शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया ।आखिर पुलिस  क्या छुपाना  चाह रही है । उन्होंने कहा है कि यदि पीएम रिपोर्ट सही है तो पुलिस ने आधी रात को बिना परिवार की रजामंदी से आखिर अंतिम संस्कार क्यों किया।हाथरस पुलिस का यह कार्य कई तरह के संदेह पैदा कर रहा है।  वोहरा ने कहा कि इस मामले में पुलिस की  कार्यप्रणाली की  न्यायिक जांच होनी चाहिए और दोषियों को फांसी पर लटकाया जाना चाहिए।


टिप्पणियां