सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

लावारिस की तरह पड़ी है चाटी से तुनन सड़क,लेटलतीफ ठेकेदार के अधीन लोकनिर्माण विभाग

 

गब्बर सिंह वैदिक,

लोकल न्यूज ऑफ इंडिया,


डिवीजन निरमंड के अंतर्गत सबडिवीजन ब्रो के अधीनस्थ प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत चाटी से तुनन सड़क का कार्य स्टेज-1का लगभग 2006 में शुरू हुआ था।जो कि 10 वर्षों में बड़ी मशक्कत व मुश्किल से पूर्ण हुआ।स्थानीय जनता को सड़क निकलने के बाद काफी सुविधा होने लगी थी।दिसम्बर 2018 में स्टेज-2का कार्य शुरु किया गया जिसमे कि सड़क को पक्का करना था।काम शुरू तो हो गया लेकिन कछुआ चाल से।2018 से आज तक हर साल इसमे सिर्फ दो या तीन महीने ही इस सड़क में निरंतर रूप के कार्य होता है।बाकी महीनों में काम ठप पड़ा रहता है।जिसकी वजह से गाड़ी चालको व स्थानीय जनता को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।स्थानीय जनता ने आरोप लगाते हुए कहा है कि लोक निर्माण विभाग मंत्री विक्रमादित्य सिंह का जेठ मेला तुनन दौरे के समय आनन-फानन में कार्य को गति दी गई।जिसमें की गुणवत्ता को दरकिनार किया गया।गटके में कच्चे पत्थर व मिट्टी का इस्तेमाल किया गया।और ये भी आरोप लगाए है कि विभाग ने डंगे रसूखदार लोग ,छूटभइये नेते  व विभाग में कार्यरत कर्मचारियों के घर के आस पास लगाए है।

बता दें कि सड़क का जो भी कार्य किया जाता है वह डीपीआर के आधार पर ही किया जाता है।कहाँ डंगा लगना है,कहाँ पैराफिट लगने है।कहाँ कलवर्ट व स्लैब कलवर्ट लगने है।जीएसबी में गटका, रोड़ी व रेत का मिश्रण बनाकर बिछाई की जाए।

ड्राइंग के अनुसार पहली लेयर जीएसबी की विछाई गई है जिसमें बड़े बड़े पत्थर व ज्यादातर मिट्टी का इस्तेमाल किया गया है।

विक्रमादित्य सिंह ने तुनन मेले में स्थानीय को आश्वस्त किया था कि बहुत जल्द को टायरिंग कर पक्का किया जाएगा।लेकिन वह सिर्फ बातें ही रह गई।अगले ही दिन पेटी ठेकेदार ने अपनी लेबर व मशीनरी ले गए।जब उनसे बात की तो कारणों का पता चला कि ठेकेदार ठेकेदार समय पर पैसे नहीं देता है।जिसकी वजह से काम करना मुश्किल हो जाता है।

    लोक निर्माण विभाग के अधिकारी आखिर ऐसे ठेकेदारों पर शिकंजा क्यूं नहीं कस पा रहा है।कौन सी ऐसी मजबूरियां है जो ऐसे लेटलतीफ ठेकेदार विभाग में तानाशाह बन बैठे है।अंदर खाते कुछ गोलमाल होने की आंशका लग रही है।

कुछ भी हो ऐसी परिस्थितियों में आम जनता की त्रस्त हो रही है।सड़क का कार्य पूर्ण न होने की वजह से शाम के समय लोगो को बस सुविधा नही मिल पा रही है।जिसके कारण दूर दराज क्षेत्र तुनन के लोगो को तीन या चार गुना किराए का भुगतान कर बोलेरो केम्पर के डाले में ठूंस ठूंस कर सफर करने को मजबूर है।जो कि एक बड़े हादसे को न्यौता दे रज है।

कभी कभी तो ऐसा प्रतीत होता है लोक निर्माण विभाग को ठेकेदार ही चला रहे है।हिमाचल प्रदेश में सुखविंदर सिंह सुक्खू की सुख देने वाली सरकार व तेजतर्रार,युवा मंत्री विक्रमादित्य सिंह ही चाटी से तुनन सड़क जो लावारिस की तरह पड़ी है शायद इसके माई बाप बन जाए।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

महीनों से गायब सहायक अध्यापिका रहीं गणतंत्र दिवस पर अनुपस्थित,अवैतनिक छुट्टी के कारण सैकड़ों बच्चों का भविष्य अधर में।

  जयचंद लोकल न्यूज़ ऑफ इंडिया सोनभद्र/म्योरपुर/लीलाडेवा   शिक्षा क्षेत्र म्योरपुर के  अंतर्गत ग्राम पंचायत लीलाडेवा के कम्पोजिट विद्यालय लीलाडेवा में सहायक अध्यापिका रानी जायसवाल विगत जनवरी 2021से तैनात हैँ और प्रायः अनुपस्थित चल रही है।इस प्रकरण में खण्ड शिक्षा अधिकारी महोदय म्योरपुर श्री विश्वजीत जी से जानकारी ली गयी तो उन्होंने बताया कि सहायक अध्यापिका रानी जायसवाल अनुपस्थित चल रही हैँ अवैतनिक अवकाश पर है, उनका कोई वेतन नही बन रहा है। उधर ग्राम प्रधान व ग्रामीणों द्वारा दिनांक 27/12/2023 को ब्लॉक प्रमुख म्योरपुर व श्रीमान जिलाधिकारी महोदय सोनभद्र को लिखित प्रार्थना पत्र देने बावत जब ब्लॉक प्रमुख श्री मानसिंह गोड़ जी से जानकारी ली गयी तो उन्होंने बताया कि प्रार्थना पत्र पर कार्यवाही हो रही है श्रीमान मुख्य विकास अधिकारी महोदय  सोनभद्र  को मामले से अवगत करा दिया गया है।424 गरीब आदिवासी  छात्र- छात्राओं वाले   कम्पोजिट विद्यालय लीलाडेवा में महज 6 अध्यापक,अध्यापिका हैँ।विद्यालय में बच्चों की संख्या ज्यादा और अध्यापक कम रहने से बच्चों का पठन - पाठन सुचारु रूप से नहीं हो पा रही है जिससे गरी

प्रधानमंत्री मोदी जी के कार्यक्रम में जा रही बस पलटी 24 यात्री घायल

  मिठाई लाल यादव लोकल न्यूज़ ऑफ़ इंडिया मध्य प्रदेश:  मध्य प्रदेश शहडोल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम में शामिल होने जा रही यात्री बस शनिवार सुबह पलट गई हादसे में 24 लोग घायल हुए हैं घायलों को जिले के स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती करवाया गया है बस डिंडोरी जिले के धनवा सागर से शहडोल आ रही थी अनूपपुर जिले के पथरूआ घाट में मोड़ पर अनियंत्रित होकर पलट गई बस में लगभग 30 यात्री सवार थे डिंडोरी कलेक्टर विकास मिश्रा ने बताया कि बस मैं सवार सभी लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए शहडोल जा रहे थे