सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

लेक्सस इण्डिया ने ऑल न्यू लेक्सस एलएम के लिए बुकिंग शुरू करने की घोषणा की

 प्रिया बिष्ट,

लोकल न्यूज ऑफ इंडिया,



चंडीगढ़: अग्रणी लक्जरी ऑटोमोबाइल निर्माता, लेक्सस इण्डिया ने अपने प्रमुख एमपीवी, ऑल न्यू मैजेस्टिक लेक्सस एलएम के लिए बुकिंग शुरू की। यह एक अनोखा लक्ज़री मूवर है जो रिलेक्सेशन और क्रिएटिविटी का एक प्राइवेट ओएसिस का अहसास प्रदान करता है। ऑल न्यू लेक्सस एलएम की बुकिंग अब भारत में सभी अधिकृत लेक्सस गेस्ट एक्सपीरियंस सेंटरों के साथ ही लेक्सस मेराकिस में भी की जा सकती है।


लेक्सस ने 1989 में मेराकी की स्थापना के बाद से इनोवेशन की भावना को संजोया है, जो डायनेमिक डिजाइन और टेक्नोलॉजी के माध्यम से नए मूल्य अनुपात प्रदान करने की कोशिश कर रहा है। अपने सभी गेस्ट की जीवन शैली को समृद्ध बनाने की इच्छा के साथ, ब्राण्ड दुनिया भर के संरक्षकों की जरूरतों को पूरा करने के लिए विभिन्न प्रकार के उत्पाद पेश करता है।


फस्ट जनरेशन के लेक्सस एलएम को एशियाई बाजारों में ड्राइवर चालित एमपीवी के लिए सुपर रिच ग्राहकों की मोबिलिटी मांगों को पूरा करने के लिए 2020 में लॉन्च किया गया था। अल्ट्रा लक्जरी सेगमेंट में 4 सीटर और 7 सीटर कॉन्फ़िगरेशन दोनों की पेशकश की गई है, लेक्सस एलएम को सभी बाजारों में बहुत अच्छी तरह प्रतिक्रिया प्राप्त हुई। बीच के वर्षों में, वैश्विक लक्जरी बाजार की ज़रूरतें और इच्छाएं तथा अधिक तीव्र और विविध हो गई हैं। जवाब में, नए एलएम को पूरी तरह से नया रूप दिया गया है, इसके मूल्य का पुनर्मूल्यांकन किया गया है और इसे ‘लक्ज़री मूवर’ के रूप में डिफाइन (परिभाषित) किया गया है, जहां से मॉडल का नाम लिया गया है।


इंजीनियरिंग और डिज़ाइन टीम का मुख्य उद्देश्य एक ऐसा वाहन बनाना था जो एक इंटीरियर स्पेस और गतिशील अनुभव प्रदान करे जहां सभी यात्री स्वाभाविक रूप से सहज महसूस कर सकें। इसकी शुरुआत मुख्य सवारी आराम और कार्यक्षमता से होती है। वाहन के आलीशान अनुपात को झुठलाते हुए, चालक प्रत्यक्ष और सटीक मोबिलिटी के माध्यम से सहज जुड़ाव का आनन्द लेता है। इस डायनेमिक रिफाइनमेंट को पीछे की सीट के यात्रियों तक पहुंचाया गया है, जो न केवल सवारी के आराम की सराहना करेंगे, बल्कि अवांछित शोर और कम्पन नही होने की भी सराहना करेंगे, जिससे उन्हें उत्पादक और तरोताजा महसूस करने की अनुमति मिलेगी।


बाहरी डिज़ाइन लेक्सस डिज़ाइन भाषा के अनुरूप एक सुंदर उपस्थिति और एयरोडायनेमिक रूप प्रस्तुत करता है, वाहन की लाइनें कार्यक्षमता और गतिशील प्रदर्शन को दर्शाती हैं। इंटीरियर में, फ्रंट केबिन डिज़ाइन ड्राइवरों को ध्यान केंद्रित करने की अनुमति देने के लिए परिशोधन के साथ व्यावहारिकता को जोड़ता है, जबकि विशाल रियर सुइट ग्राहकों की बहुमूल्य यात्रा के समय का अधिकतम लाभ उठाने के लिए विभिन्न प्रकार की सुविधाओं और प्रौद्योगिकी के साथ सावधानीपूर्वक तैयार की गई सीटें और ट्रिम प्रदान करता है।


इस महत्वपूर्ण अवसर पर अपने विचार व्यक्त करते हुए, लेक्सस इण्डिया के अध्यक्ष श्री नवीन सोनी ने कहा, हम भारत में बिल्कुल नए लेक्सस एलएम के बहुप्रतीक्षित बुकिंग की घोषणा करते हुए रोमांचित हैं। यह भारत में लेक्सस के लिए एक नई श्रेणी है और तथ्य यह है इस साल की शुरुआत में ऑटो एक्सपो में प्रदर्शित पिछली पीढ़ी के एलएम के लिए हमें जबरदस्त प्रतिक्रिया मिली, जो असाधारण अनुभव प्रदान करने की हमारी प्रतिबद्धता की पुष्टि करता है। एलएम उद्योग में अल्ट्रा लक्जरी गतिशीलता के लिए एक नया मानक पेश करेगा।


उन्होंने अपनी बात जारी रखते हुए कहा लेक्सस में, हमारा प्रयास गेस्ट्स की जरूरतों का पहले से अनुमान लगाना, आराम और सुविधा के स्तर की पेशकश करना है। हम जो भी वाहन पेश करते हैं, वह रोजमर्रा की विलासिता और परिष्कृतता के स्तरों के साथ एक अद्वितीय ड्राइविंग अनुभव प्रदान करने की हमारी पारंपरिक जापानी ओमोटेनाशी हॉस्पिटीयलिटी का प्रतीक है। इस श्रेणी के लिए अल्ट्रा एचएनआई की ऑल टाइम हाई आवश्यकता के आधार पर, हम आने वाले वर्षों में ऐसे लक्जरी मूवर्स की मजबूत मांग जारी रहने की आशा रखते है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

महीनों से गायब सहायक अध्यापिका रहीं गणतंत्र दिवस पर अनुपस्थित,अवैतनिक छुट्टी के कारण सैकड़ों बच्चों का भविष्य अधर में।

  जयचंद लोकल न्यूज़ ऑफ इंडिया सोनभद्र/म्योरपुर/लीलाडेवा   शिक्षा क्षेत्र म्योरपुर के  अंतर्गत ग्राम पंचायत लीलाडेवा के कम्पोजिट विद्यालय लीलाडेवा में सहायक अध्यापिका रानी जायसवाल विगत जनवरी 2021से तैनात हैँ और प्रायः अनुपस्थित चल रही है।इस प्रकरण में खण्ड शिक्षा अधिकारी महोदय म्योरपुर श्री विश्वजीत जी से जानकारी ली गयी तो उन्होंने बताया कि सहायक अध्यापिका रानी जायसवाल अनुपस्थित चल रही हैँ अवैतनिक अवकाश पर है, उनका कोई वेतन नही बन रहा है। उधर ग्राम प्रधान व ग्रामीणों द्वारा दिनांक 27/12/2023 को ब्लॉक प्रमुख म्योरपुर व श्रीमान जिलाधिकारी महोदय सोनभद्र को लिखित प्रार्थना पत्र देने बावत जब ब्लॉक प्रमुख श्री मानसिंह गोड़ जी से जानकारी ली गयी तो उन्होंने बताया कि प्रार्थना पत्र पर कार्यवाही हो रही है श्रीमान मुख्य विकास अधिकारी महोदय  सोनभद्र  को मामले से अवगत करा दिया गया है।424 गरीब आदिवासी  छात्र- छात्राओं वाले   कम्पोजिट विद्यालय लीलाडेवा में महज 6 अध्यापक,अध्यापिका हैँ।विद्यालय में बच्चों की संख्या ज्यादा और अध्यापक कम रहने से बच्चों का पठन - पाठन सुचारु रूप से नहीं हो पा रही है जिससे गरी

प्रधानमंत्री मोदी जी के कार्यक्रम में जा रही बस पलटी 24 यात्री घायल

  मिठाई लाल यादव लोकल न्यूज़ ऑफ़ इंडिया मध्य प्रदेश:  मध्य प्रदेश शहडोल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम में शामिल होने जा रही यात्री बस शनिवार सुबह पलट गई हादसे में 24 लोग घायल हुए हैं घायलों को जिले के स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती करवाया गया है बस डिंडोरी जिले के धनवा सागर से शहडोल आ रही थी अनूपपुर जिले के पथरूआ घाट में मोड़ पर अनियंत्रित होकर पलट गई बस में लगभग 30 यात्री सवार थे डिंडोरी कलेक्टर विकास मिश्रा ने बताया कि बस मैं सवार सभी लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए शहडोल जा रहे थे

लावारिस की तरह पड़ी है चाटी से तुनन सड़क,लेटलतीफ ठेकेदार के अधीन लोकनिर्माण विभाग

  गब्बर सिंह वैदिक, लोकल न्यूज ऑफ इंडिया, डिवीजन निरमंड के अंतर्गत सबडिवीजन ब्रो के अधीनस्थ प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत चाटी से तुनन सड़क का कार्य स्टेज-1का लगभग 2006 में शुरू हुआ था।जो कि 10 वर्षों में बड़ी मशक्कत व मुश्किल से पूर्ण हुआ।स्थानीय जनता को सड़क निकलने के बाद काफी सुविधा होने लगी थी।दिसम्बर 2018 में स्टेज-2का कार्य शुरु किया गया जिसमे कि सड़क को पक्का करना था।काम शुरू तो हो गया लेकिन कछुआ चाल से।2018 से आज तक हर साल इसमे सिर्फ दो या तीन महीने ही इस सड़क में निरंतर रूप के कार्य होता है।बाकी महीनों में काम ठप पड़ा रहता है।जिसकी वजह से गाड़ी चालको व स्थानीय जनता को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।स्थानीय जनता ने आरोप लगाते हुए कहा है कि लोक निर्माण विभाग मंत्री विक्रमादित्य सिंह का जेठ मेला तुनन दौरे के समय आनन-फानन में कार्य को गति दी गई।जिसमें की गुणवत्ता को दरकिनार किया गया।गटके में कच्चे पत्थर व मिट्टी का इस्तेमाल किया गया।और ये भी आरोप लगाए है कि विभाग ने डंगे रसूखदार लोग ,छूटभइये नेते  व विभाग में कार्यरत कर्मचारियों के घर के आस पास लगाए है। बता दें कि सड़क का जो