सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

तीसरी बार आबादी पर वार

 

प्रिया बिष्ट

लोकल न्यूज ऑफ इंडिया 

पहली बार लोकसभा चुनाव में गुजरात के विकास माडल के साथ सियासी जमीन को मोदी ने अपने मोला तोला और दूसरी बार चुनाव में तो पुलवामा ने राष्ट्रवाद उन्माद के बैनर तले मोदी ने हर विरोध को झुठला विपक्षियों को मात दे दिया ।


पर अब राम मंदिर के आस्था में डुबकी लगाते भक्तों के बीच एक नया अंदाज आबादी पर हमला वाला शिगूफा छोड़ वित्तमंत्री ने शायद इशारा किया। सियासी गलियारों में भाजपा की ओर से पहले ही इसकी सुगबुगाहट हो चुकी है। रही सही अंतिम कसर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की जनसंख्या वृद्धि से होने वाली चुनौतियां से निपटने के लिए कमेटी के गठन की घोषणा से पूरी हो गई।सियासी जानकारों के मुताबिक भाजपा ने अपनी रणनीतियों में एक बहुत बड़े दांव का कैनवास तैयार कर लिया है। जनसंख्या वृद्धि की वजह से होने वाली चुनौतियों को लेकर निर्मला सीतारमण ने बजट में जिस कमेटी के गठन का एलान किया है, उसी के साथ भाजपा के अगले चुनावों का बड़ी सियासी पिच भी तैयार हो गई है।


भाजपा ने अगले कुछ सालों के लिए एक बड़ा सियासी मुद्दा और महत्वपूर्ण राजनीतिक पिच तैयार की है। जिसके आधार पर आने वाले दिनों में भाजपा अपनी नीतियों के मुताबिक एक बड़ा रिफॉर्म कर सकती है।अगर भाजपा तीसरी बार केंद्र में सत्ता में आती है, तो उसका सबसे बड़ा पॉलिटिकल एजेंडा जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाना हो सकता है। 


 ऐसा नहीं हैं कि यह सब अचानक हो गया इसकी जमीन तो भाजपा और आरएसएस बीते कई वर्षों से मुखरता से तैयार कर रहे थे। प्रधानमंत्री मोदी ने तो सार्वजनिक मंच से भी जनसंख्या वृद्धि पर चिंता व्यक्त करते हुए छोटे परिवार की संकल्पना की बात भी कही थी। 


धारा 370 और राम मंदिर की तरह यह मुद्दा भी भाजपा के लिए बड़ा उपजाऊ है। और यदि भाजपा तीसरी बार सत्ता में आती है, तो जनसंख्या नियंत्रण जैसा महत्वपूर्ण कानून बनाया जा सकता है। जनसंख्या वृद्धि से होने वाली चुनौतियों को जांचने के लिए सबसे पहली आवश्यकता जनगणना की है। ऐसे में जब तक जनगणना नहीं होती, तब तक जनसंख्या वृद्धि जैसे महत्वपूर्ण मामले में कोई भी कानून बनाना चुनौती पूर्ण हो सकता है। पर संभवत लोकसभा चुनावों के बाद नई जनगणना की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। अनुमान यही लगाया जा रहा है कि बजट में घोषित कमेटी भी उसके बाद ही सुचारू रूप से अपनी सिफारिशो और कार्यपद्धतियों को बेहतर तरीके से अंजाम दे पाएगी।


सब जानते हैं कि भाजपा के एजेंडे में तीन महत्वपूर्ण मुद्दे बहुत लंबे समय से हैं। इसमें कश्मीर से धारा 370 हटाने के साथ-साथ राम मंदिर निर्माण समेत जनसंख्या नियंत्रण महत्वपूर्ण है। इनमें से 370 कश्मीर में पहले ही हटाई जा चुकी है और राम मंदिर का निर्माण पूरा होकर इसका शुभारंभ हो चुका है। भाजपा ने दो महत्वपूर्ण मुद्दों के बाद जनसंख्या नियंत्रण जैसे महत्वपूर्ण मुद्दे को आगे बढ़ाना शुरू किया है। क्योंकि बजट में अब इस पर काम करने के लिए कमेटी के गठन का एलान किया जा चुका है।भाजपा इस मुद्दे के साथ अगले पांच वर्षों की सियासत के लिहाज से बड़ा ट्रैक बना रही है। इसके अलावा उनका कहना है कि एक देश एक चुनाव भी महत्वपूर्ण मुद्दा है। इसकी कमेटी तो राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की अध्यक्षता में पहले ही गठित की जा चुकी है।धीरे-धीरे ही सही लेकिन आने वाले चुनावों में भाजपा इसका मुद्दा बनाना शुरू करेगी। 


आबादी मुद्दे पर ध्रुवीकरण करने का काम भाजपा पहले ही कर चुकी हैं और बस उसको थोड़ा सा तड़का लगाने की जरूरत हैं और देश एक मौका और मोदी की तरफ परोस देगा।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

महीनों से गायब सहायक अध्यापिका रहीं गणतंत्र दिवस पर अनुपस्थित,अवैतनिक छुट्टी के कारण सैकड़ों बच्चों का भविष्य अधर में।

  जयचंद लोकल न्यूज़ ऑफ इंडिया सोनभद्र/म्योरपुर/लीलाडेवा   शिक्षा क्षेत्र म्योरपुर के  अंतर्गत ग्राम पंचायत लीलाडेवा के कम्पोजिट विद्यालय लीलाडेवा में सहायक अध्यापिका रानी जायसवाल विगत जनवरी 2021से तैनात हैँ और प्रायः अनुपस्थित चल रही है।इस प्रकरण में खण्ड शिक्षा अधिकारी महोदय म्योरपुर श्री विश्वजीत जी से जानकारी ली गयी तो उन्होंने बताया कि सहायक अध्यापिका रानी जायसवाल अनुपस्थित चल रही हैँ अवैतनिक अवकाश पर है, उनका कोई वेतन नही बन रहा है। उधर ग्राम प्रधान व ग्रामीणों द्वारा दिनांक 27/12/2023 को ब्लॉक प्रमुख म्योरपुर व श्रीमान जिलाधिकारी महोदय सोनभद्र को लिखित प्रार्थना पत्र देने बावत जब ब्लॉक प्रमुख श्री मानसिंह गोड़ जी से जानकारी ली गयी तो उन्होंने बताया कि प्रार्थना पत्र पर कार्यवाही हो रही है श्रीमान मुख्य विकास अधिकारी महोदय  सोनभद्र  को मामले से अवगत करा दिया गया है।424 गरीब आदिवासी  छात्र- छात्राओं वाले   कम्पोजिट विद्यालय लीलाडेवा में महज 6 अध्यापक,अध्यापिका हैँ।विद्यालय में बच्चों की संख्या ज्यादा और अध्यापक कम रहने से बच्चों का पठन - पाठन सुचारु रूप से नहीं हो पा रही है जिससे गरी

प्रधानमंत्री मोदी जी के कार्यक्रम में जा रही बस पलटी 24 यात्री घायल

  मिठाई लाल यादव लोकल न्यूज़ ऑफ़ इंडिया मध्य प्रदेश:  मध्य प्रदेश शहडोल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम में शामिल होने जा रही यात्री बस शनिवार सुबह पलट गई हादसे में 24 लोग घायल हुए हैं घायलों को जिले के स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती करवाया गया है बस डिंडोरी जिले के धनवा सागर से शहडोल आ रही थी अनूपपुर जिले के पथरूआ घाट में मोड़ पर अनियंत्रित होकर पलट गई बस में लगभग 30 यात्री सवार थे डिंडोरी कलेक्टर विकास मिश्रा ने बताया कि बस मैं सवार सभी लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए शहडोल जा रहे थे

लावारिस की तरह पड़ी है चाटी से तुनन सड़क,लेटलतीफ ठेकेदार के अधीन लोकनिर्माण विभाग

  गब्बर सिंह वैदिक, लोकल न्यूज ऑफ इंडिया, डिवीजन निरमंड के अंतर्गत सबडिवीजन ब्रो के अधीनस्थ प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत चाटी से तुनन सड़क का कार्य स्टेज-1का लगभग 2006 में शुरू हुआ था।जो कि 10 वर्षों में बड़ी मशक्कत व मुश्किल से पूर्ण हुआ।स्थानीय जनता को सड़क निकलने के बाद काफी सुविधा होने लगी थी।दिसम्बर 2018 में स्टेज-2का कार्य शुरु किया गया जिसमे कि सड़क को पक्का करना था।काम शुरू तो हो गया लेकिन कछुआ चाल से।2018 से आज तक हर साल इसमे सिर्फ दो या तीन महीने ही इस सड़क में निरंतर रूप के कार्य होता है।बाकी महीनों में काम ठप पड़ा रहता है।जिसकी वजह से गाड़ी चालको व स्थानीय जनता को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।स्थानीय जनता ने आरोप लगाते हुए कहा है कि लोक निर्माण विभाग मंत्री विक्रमादित्य सिंह का जेठ मेला तुनन दौरे के समय आनन-फानन में कार्य को गति दी गई।जिसमें की गुणवत्ता को दरकिनार किया गया।गटके में कच्चे पत्थर व मिट्टी का इस्तेमाल किया गया।और ये भी आरोप लगाए है कि विभाग ने डंगे रसूखदार लोग ,छूटभइये नेते  व विभाग में कार्यरत कर्मचारियों के घर के आस पास लगाए है। बता दें कि सड़क का जो